• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Barmer
  • When Admitted, He Was Very Worried, But The Doctors At The Hospital Gave The Courage Of The Nursing Staff And The Patients Themselves.

जन संकल्प से हारेगा कोरोना:जब भर्ती किया ताे बेहद चिंतित थे, लेकिन अस्पताल में डाॅक्टराें नर्सिंग स्टाफ और मरीजों की खुद की हिम्मत ने जीवनदान दिया है

बाड़मेर6 महीने पहलेलेखक: शैलेश वासु
  • कॉपी लिंक
मुफ्ताराम। - Dainik Bhaskar
मुफ्ताराम।
  • कोरोना से हर तरफ फैली निराशा के बीच इस खबर में पढ़िए उन संक्रमितों की कहानी और उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों की जुबानी, गंभीर अवस्था में भर्ती रोगियों ने अपनी व डॉक्टरों की हिम्मत व इलाज से कैसे कोरोना को हराया और ठीक होने लगे

जिला अस्पताल में काेविड के मरीजाें के लिए 376 बेड की व्यवस्था की गई है। अस्पताल में बुधवार काे 345 मरीज भर्ती रहे। इनमें से 50 आरटीपीसीआर पॉजिटिव व 275 मरीज एचआरसीटी पॉजिटिव है। वहीं डिस्चार्ज महज 31 मरीजाें काे ही किया गया। 36 घंटे के दरम्यान 163 मरीजों काे भर्ती किया गया। ऑक्सीजन के सिलेंडर की खपत मंगलवार सुबह आठ बजे से बुधवार रात आठ बजे तक 1245 तक पहुंच गई।

मरीजाें काे राहत देने के लिए डाॅक्टराें की टीम व नर्सिंग स्टाफ प्रयास जारी रखे हुए है। ऐसी परिस्थिति में भी डाॅक्टराें की मेहनत एक आशा की किरण के रूप में उभर रही है। जिला अस्पताल में एचआरसीटी पॉजिटिव रिपोर्ट में स्काेर 16 तक हाेने पर भी मरीजाें की स्थिति सामान्य हाे रही है। भास्कर ने अस्पताल के काेविड आइसोलेशन व ऑर्थाे मेल वार्ड में भर्ती मरीजाें व उनके परिजनाें से उनके स्वास्थ के बारे में जानकारी जुटाई।

मरीज बाेले कि वे जब भर्ती थे ताे वे बेहद चिंतित थे,लेकिन अस्पताल के डाॅक्टराें तथा नर्सिंग स्टाफ व अस्पताल प्रशासन की व्यवस्थाओं और मरीजों की खुद की हिम्मत ने उन्हें जीवनदान दिया है।

वार्ड के बेड नंबर 13 पर भर्ती मरीज 38 साल के मुफ्ताराम पुत्र छाेगाराम कलबी का कहना है कि उसे 15 अप्रैल काे गंभीर अवस्था में भर्ती किया गया। एचआरसीटी पॉजिटिव तथा स्काेर 16 था। गंभीर हालात हाेने के बावजूद डाॅक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ की मेहनत के बाद अब सामान्य अवस्था में है। उसे जल्द ही डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।- मुफ्ताराम, अध्यापक, हाडेचा

बेड नंबर 14 पर भर्ती 47 साल कह मरीज मथरा कंवर पिछले 8 दिन से भर्ती है। गंभीर हालात में एचआरसीटी स्काेर 14 हाेने पर गंभीर अवस्था में लाई गई थी। फिलहाल ऑक्सीजन पर है और स्वास्थ्य में सुधार है। डाॅक्टर ने आश्वस्त किया है कि उसे जल्द ही डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।- मथरा कंवर, निवासी गुड़ा नगर

बेड नंबर 10 पर भर्ती मरीज नजमा बानू पिछले 12 दिन से वार्ड में भर्ती है। एचआरसीटी पॉजिटिव स्काेर 10 था। उसे हाई फ्लाे मास्क पर रखा गया था। फिलहाल ऑक्सीजन पर है, लेकिन हालत में सुधार है। नजमा भी आश्वस्त है कि जल्दी ही डिस्चार्ज होकर घर जाएंगी। - नजमा बानू, इंदिरा काॅलोनी, बाड़मेर

अस्पताल के आईसीसीयू वार्ड के बेड नंबर 4 पर पिछले चार दिन से भर्ती मरीज रजिया बानू। एचआरसीटी स्कोर 15 तथा ऑक्सीजन सिचुरेशन 45 तक पहुंच गया। अब वे खतरे से बाहर है। फिलहाल ऑक्सीजन सेचुरेशन 97 चल रहा है जाे सामान्य अवस्था का है। -रजिया बानू,बाड़मेर

ये सभी मरीज गंभीर स्थिति में लाए गए थे। एचआरसीटी स्काेर 14 से 16 के बीच का हाेने तथा ऑक्सीजन सेचुरेशन 40 से भी कम थी। फिलहाल सभी मरीज खतरे से बाहर है। जल्द ही इन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।- डाॅ. शालू परिहार, जिला अस्पताल

मरीजाें की लाेड बढ़ता जा रहा है। 36 घंटे के दाैरान 163 नए मरीज भर्ती हुए है। ऑक्सीजन की खपत बढ़ती जा रही है। डाॅक्टराें काे वेंटिलेटर ऑपरेट की भी ट्रेंनिग दी जा रही है। बालिका छात्रावास के बेड भी फुल हाे गए है। - डाॅ. बीएल. मसूरिया, पीएमओ

खबरें और भी हैं...