पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कृषि:बाजरे में लट,ग्वार में जीवाणु और झुलसा रोग का प्रकोप

पोकरण10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्षेत्र के कई गांवों में खड़ी फसलें हो रही खराब, पैदावार से पहले नुकसान ने किसानों की बढ़ाई चिंता

शहर एवं आस-पास के विभिन्न गांवों भाखरी, एका, दुधिया, छायण, धोलिया, लाठी, अजासर, डांगरी, रामदेवरा, राजमथाई, टोटा, चोक रामपुरा, तापपुरा, सांकडा, नाचना आदि के किसानों द्वारा वर्तमान में खड़ी फसलों में कीट व बीमारियों का प्रकोप निरन्तर बढ़ता ही जा रहा है। किसानों की चिंता अब बढ़ने लगी है, क्यों कि इस वर्ष अच्छी वर्षा से खेतों में फसलें तो बढ़िया लहलहा रही है, किन्तु अब अंदेशा होने लगा है कि कीट और बीमारियों के बढ़ते प्रकोप के कारण फसलों की उपज न घट जाए।

कृषि विज्ञान केन्द्र पोकरण के वैज्ञानिक और कृषि विभाग जैसलमेर के अधिकारियों के पास किसानों की तरफ से लगातार आ रही शिकायतों के समाधान के लिए क्षेत्र के किसानों को सलाह दी जा रही है कि बाजरे की फसल में सिट्टे की दुधिया व दाना भरने की अवस्थाओं पर इयर हेड केटरपिलर, हैलिकोवर्पा की लट दानों को खाकर नष्ट कर रही है।

मूंग में फली छेदक कीट के प्रकोप की शिकायत भी देखने को मिल रही है। उपरोक्त दोनों कीटों के नियंत्रण के लिए इमामेक्टिन बैंजोएट 5 एसजी की 0.5 ग्राम या क्लोरेंट्रानिलीप्रोल 18.5 एससी की 0.25 मिली या इन्डोक्साकार्ब 14.5 एस.सी. या प्रोफेनोफोस 50 ईसी की 2 एम.एल. दवा को प्रति लीटर पानी के साथ घोल बनाकर छिड़काव करें।

इसके अतिरिक्त ग्वार की फसल में जीवाणु झुलसा, बैक्टीरियल ब्लाइट बीमारी का प्रकोप भी अधिक नमी के कारण बढ़ रहा है। जिसमे पत्तियों पर हल्के खुरदरा लाल गहरे भूरे धब्बे के समान लक्षण दिखते हैं। पत्तियां झुलसने लगती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें