आरोप / केबिनेट मंत्री धर्म की राजनीति करना छाेड़ें : भाटी

X

  • जैसलमेर के पूर्व विधायक सांगसिंह भाटी का आरोप, पोकरण में क्वारेंटाइन सेंटर के नाम से बनाए फर्जी बिल

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:33 AM IST

पोकरण. जैसलमेर के पूर्व विधायक सांगसिंह भाटी ने शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि केबिनेट मंत्री धर्म की राजनीति छोड़ देें। कुछ दिन पूर्व क्षेत्र के माड़वा गांव स्थित तुंवरों की ढाणी में एक वर्ग विशेष के लोगों ने साजिश के तहत रेवंतसिंह की  हत्या का अंजाम दिया। उस समय केबिनेट मंत्री ने तीन दिन तक चुप्पी साधे रखी। विवाद बढ़ता देख उन्होंने प्रतिक्रिया जाहिर की। लेकिन मोहनगढ़ प्रकरण में केबिनेट मंत्री ने अपनी सक्रियता दिखाते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंप दिया।  

हमें ऐसी घटनाओं पर राजनीति नहीं कर मानवीय संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए पीड़ित पक्ष को न्याय दिलाने के लिए प्रयास करना चाहिए, लेकिन केबिनेट मंत्री के लिए दोनों मामलों पर गंभीरता और सक्रियता दिखाकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कराएं। भाटी ने कहा कि पोकरण विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों व ढाणियों में भीषण गर्मी में पानी की भारी समस्या बनी हुई है। संबंधित विभाग द्वारा प्रतिवर्ष करोड़ों रुपए के पेयजल टैंडर निकाल कर खानापूर्ति कर दी जाती है।

कोरोना संक्रमण के दौरान गांवों में पानी की किल्लत बनी हुई। जनप्रतिनिधियों के साथ प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी भी मूकदर्शक बने हुए हैं। जल्द ही वर्तमान सरकार द्वारा ग्रामीण अंचलों में पानी की व्यवस्था को सुचारू नहीं किया गया तो बीजेपी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं द्वारा धरना प्रदर्शन किया जाएगा। 

कोरोना संक्रमण के दौरान गरीब व असहाय लोगों की मदद के नाम पर कांग्रेस के नेताओं ने राशन वितरण के दौरान अपने फोटो खिंचवाकर सोशल मीडिया वायरल कर झूठी प्रशंसा के पात्र बने। यह गरीब जनता का अपमान है। ऐसा करना दुर्भाग्यपूर्ण हैं। 
कोरोना काल में भी क्वारेंटाइन पर बना दिए लाखों के फर्जी बिल  
भाटी ने कहा की पोकरण के व्यापारियों को राजनीति का शिकार बनाया जा रहा है। व्यापारियों को कालाबाजारी के नाम पर परेशान किया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान जिन व्यापारियों ने प्रशासन का साथ दिया उनको कांग्रेस के नेताओं द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बनाकर मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। उपखंड प्रशासन पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि चिन्हित होटलों को क्वारंेटाइन सेंटर कर लाखों रुपए के फर्जी बिल बनाए। 
भाजपा कार्यकर्ताओं को बनाया निशाना, बिना जांच के दी नियुक्ति 
लॉकडाउन के दौरान बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर जानबूझकर कांग्रेस के नेताओं ने मामले दर्ज करवाए। इससे बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण क्या हो सकता हैं। संकट की इस घड़ी में हमें ओछी राजनीति नहीं करके सबको साथ में लेकर जनता के हितों में कार्य करना चाहिए। भाटी ने  अधिकारियों के साथ वर्तमान राज्य सरकार पर निशान साधते हुए कहा कि फलसूंड में नवचयनित एएनएम की कोरोना संक्रमण की जांच व बिना होमक्वारेंटाइन किए बगैर नियुक्ति दे दी। इससे गांव में कोरोना संक्रमण ने दस्तक दे दी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना