आगजनी / संस्थागत क्वारेंटाइन के लिए अधिग्रहित हाेटल में आग, 25 लाख का सामान जला

पोकरण.जोधपुर रोड़ स्थित होटल में आग लगने के बाद लाखो रूपए का फर्नीचर जल कर हुआ राख। आग बुझाने का प्रयास करते लोग। पोकरण.जोधपुर रोड़ स्थित होटल में आग लगने के बाद लाखो रूपए का फर्नीचर जल कर हुआ राख। आग बुझाने का प्रयास करते लोग।
X
पोकरण.जोधपुर रोड़ स्थित होटल में आग लगने के बाद लाखो रूपए का फर्नीचर जल कर हुआ राख। आग बुझाने का प्रयास करते लोग।पोकरण.जोधपुर रोड़ स्थित होटल में आग लगने के बाद लाखो रूपए का फर्नीचर जल कर हुआ राख। आग बुझाने का प्रयास करते लोग।

  • नहीं पहुंच पाई दमकल,होटल बंद थी फिर एसी चालू थे

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:55 AM IST

पोकरण. जोधपुर रोड पर स्थित होटल देवरंग में शनिवार की दोपहर करीब 11.30 बजे अचानक आग लग गई।  यह हाेटल काेराेना संदिग्धों के क्वारेंटाइन के लिए प्रशासन ने 7 अप्रैल काे अधिग्रहित किया था। अभी इसमें काेई नहीं रुका था और हाेटल बंद थे।

होटल बंद हाेने के बाद भी यहां रिसेप्शन व रेस्टोरेंट में लगे एसी चालू थे और अन्य उपकरणों के स्विच भी ऑन थे। संभवतया इसी वजह से शार्ट सर्किट हुआ और आग लग गई। होटल मालिक के अनुसार इस आग में 25 लाख का सामान जलकर राख हो गया।  
होटल मालिक जगदीश सिंह राजपुरोहित को पड़ौसी दुकानदार ज्योतिष पुरोहित ने फोन पर इसकी सूचना दी। इस दौरान पुरोहित ने फायर ब्रिगेड को भी सूचना दे दी। जगदीश जब होटल पहुंचा तब तक आसपास के लोगों ने आग पर काबू पाने के प्रयास शुरू कर दिए थे और फायर ब्रिगेड नहीं आई थी।

करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। पाेकरण में फायर ब्रिगेड की एक ही गाड़ी है और वह भी अवाय में लगी आकर पर काबू पाने के लिए गई थी। आग लगने से होटल के रेस्टारेंट में स्थित 10 एसी, बेकरी का सामान, 3 डी फ्रिज, 13 पंखे, एलसीडी व सीसीटीवी, टेलीकाम सिस्टम, बड़ा टीवी, फर्नीचर, बिस्तर सैट 26, दो वाटर कूलर, प्रिंटर, कंप्यूटर व इलेक्ट्रिक कंट्रोल रूम आदि जल गए।
फेसबुक पर लाइव देख आग बुझाने के लिए दाैड़े लाेग, 50 से अधिक लाेग जमा
होटल में आग लगी उस समय अंदर कोई नहीं था।  शहर मे कोरोना संक्रमण के कारण प्रशासन ने देवरंग होटल को भी क्वारेंटाइन सेंटर बनाया था।  मौके पर तहसीलदार राजेश विश्नोई, शिक्षा विभाग के विष्णु कुमार छंगाणी, पटवारी व पुलिस ने घटना स्थल का जायजा लिया।देवरंग में लगी आग को सबसे पहले   ज्योतिष पुरोहित ने देखा और उन्होंने ही आखिर तक इसे बुझाने में कामयाबी हासिल की।

पुरोहित ने बताया कि जब उन्होंने धुंआ उठता देखा तो सबसे पहले मालिक जगदीश सिंह को फोन किया। जगदीश सिंह ने कहा कि होटल की चाबियां उसके पास नहीं है प्रशासन के पास है। इस पर पुरोहित ने लोहे के सरिए से ताले तोड़ दिए। उन्होंने फायर बिग्रेड को फोन किया तो पता चला कि दमकल अवाय गई हुई है।

ऐसे में पुरोहित को लगा कि अब आग पर काबू पाना आसान नहीं होगा। उन्होंने अपना फोन किसी ओर को दिया और फेसबुक लाइव चला दिया ताकि लोगों को इसकी जानकारी हो और आग बुझाने के लिए आ सके। ऐसा ही हुआ, फेसबुक लाइव चलते ही आग बुझाने के लिए 50 से अधिक लोग मौके पर पहुंच गए। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पाया।   

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना