पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भादरिया के ग्रामीणों ने लिया नशामुक्ति का संकल्प:व्यापारियों एवं ग्रामीणों की बैठक संपन्न, संकल्प के साथ नशा छोड़ने का दिया संदेश

पोकरण19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शक्तिपीठ भादरिया मंदिर में बुधवार को नशामुक्ति को लेकर ग्रामीणों एवं व्यापारियों की बैठक हुई। बैठक के मुख्य अतिथि भादरिया सरपंच प्रेमसिंह भाटी थे। बैठक की अध्यक्षता जगदम्बा सेवा समिति के सचिव जुगलकिशोर आसेरा ने की। विशिष्ट अतिथि में अशोक कुमार सोढाणी, राधेश्याम गांधी, सुरजमल सेवक, पप्पूसिंह जसोड़, हाथीसिंह जसोड़, किशनसिंह उपस्थित थे।

मुख्य अतिथि सरपंच प्रेमसिंह भाटी ने कहा कि भादरिया गांव के सभी मौजिज लोगों के सर्वसम्मति से भादरिया गांव को नशामुक्त करने का निर्णय लिया। वहीं ग्रामीणों ने बढ़ते हुए नशे की प्रवृति को रोकने के लिए सभी ग्रामीणों ने सर्वसम्मति से नशामुक्त करने का संकल्प लिया। वहीं युवाओं को आज के बाद नशा नहीं करने का संदेश दिया। शक्तिपीठ भादरिया महाराज ने नशामुक्ति का अभियान चलाकर भादरिया गांव सहित आस-पास क्षेत्र को पूर्ण रूप से नशामुक्त कर दिया गया था।

वहीं भादरिया महाराज की प्रेरणा से बुधवार को भादरिया ग्रामीणों ने भादरिया गांव को नशामुक्त करने का संकल्प लिया। वहीं शक्तिपीठ भादरिया माता मंदिर की पहचान बनाने के लिए भादरिया महाराज की अहम भूमिका रही है। वहीं संत हरिवंश सिंह निर्मल एवं भादरिया महाराज ने भादरिया, खेतोलाई, धौलिया, सोढाकोर सहित आस-पास क्षेत्र में समय-समय पर नशामुक्ति को अभियान चलाकर कई गांवों को नशामुक्त किया गया। बैठक में सभी ग्रामीण एवं व्यापारियों ने नशामुक्त को लेकर गांव के युवाओं एवं आस-पास क्षेत्र के ग्रामीणों को नशा नहीं करने को लेकर संकल्प लिया। वहीं लोगों ने शपथ लेकर नशा नहीं करने की बात कही।

इस अवसर पर नरपतसिंह, गपसिंह खालत, रूपसिंह, मूलसिंह, भूरसिंह सहित कई लोगों ने नशामुक्ति को लेकर संकल्प लिया। जगदम्बा सेवा समिति के सचिव जुगलकिशोर आसेरा ने कहा कि आज के बाद भादरिया गांव में कोई भी व्यापारी नशीले पदार्थ नहीं बेचेगें। वहीं सभी व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान में रखे नशीले पदार्थ को जलाकर नष्ट किया जाएगा। इसको लेकर भादरिया के सभी व्यापारियों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया।

खबरें और भी हैं...