पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रिको एरिया:रीको में लाखों रुपए लगाकर खरीदे भूखंड पर न रोड लाइट और न ही पानी का प्रबंध

पोकरण7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • काफी समय से मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहे हैं रीको क्षेत्र के इकाई मालिक, सुनवाई नहीं

शहर को औद्योगिक क्षेत्र में विकसित करने के लिए सरकार द्वारा पोकरण में भी रीको इंडस्ट्रीयल एरिया का निर्माण कर आमजन को औद्योगिक क्षेत्र में आगे लाने का प्रयास किया। रीको इंडस्ट्रीयल एरिया खुलने के साथ ही शहरवासियों में भी रीको क्षेत्र को लेकर काफी उत्साह नजर आया। लोगों ने सरकार की नीलामी के दौरान भूखंड खरीदने शुरू किए।

लाखों रुपए की लागत में आमजन ने रीको क्षेत्र में भूखंड ले लिए हैं। लेकिन भूखंड बेचने के बाद से रीको के अधिकारी जैसे पोकरण रीको को भूल से गए हैं। अधिकारियों द्वारा इस ओर न तो कोई विशेष ध्यान दिया जा रहा है और न ही इकाई मालिकों की सुविधा के लिए कोई प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी इकाई मालिक अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को कई बार सूचित किए जाने के बाद भी उनके द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

रिको एरिया में हाल ही में लगभग 60 इकाइयां शुरू है। जिसमें कुछ पत्थर कटिंग की है तो कुछ अन्य औद्योगिक क्षेत्र की इकाइयां है। इन सभी इकाइयों में पानी की महत्ती आवश्यकता है। लेकिन रीको एरिया में पानी की व्यवस्था नहीं होने के कारण इकाई मालिकों को मजबूरन महंगे दामों में पानी के टैंकर मंगवाकर पानी की व्यवस्था करनी पड़ रही है।

रीको क्षेत्र में पानी की व्यवस्था करवाने के संबंध में स्थानीय इकाई मालिकों द्वारा रीको के अधिकारी को भी सूचित किया है। वहीं जलदाय विभाग द्वारा रीको क्षेत्र में पानी की समस्या के समाधान को लेकर एसआर का निर्माण किया था। लेकिन निर्माण के बाद से इस एसआर में पानी की एक बूंद तक नहीं आई है। वहीं विभागीय अधिकारी भी इस ओर कोई रूचि नहीं दिखा रहे हैं। जिसका खामियाजा स्थानीय इकाई मालिकों को भुगतना पड़ रहा है।

आवंटन के बाद भी कई भूखंडों का आज तक नहीं हुआ उपयोग
रिको विभाग द्वारा पोकरण रीको इंडस्ट्रीयल एरिया में विकास को लेकर भूखंड आवंटित किए गए थे। वहीं आवंटन प्रक्रिया के दौरान यह नियम भी रखा था कि आवंटित भूखंड पर एक वर्ष में निर्माण करवाना आवश्यक है। लेकिन रीको क्षेत्र में आज भी कई भूखंड ऐसे हैं जहां पर निर्माण तो दूर सीमांकन के लिए पिलर भी नहीं लगाए गए हैं।

वहीं कई भूखंड मालिक भूखंडों को खरीदने के बाद इन भूखंडों को जैसे भूल से गए हैं। वहीं रीको क्षेत्र में आवासीय भूखंडों को निरस्त की प्रक्रिया अपना कर उन्हें पुन: नीलामी करने की प्रक्रिया रखी गई है। लेकिन अन्य खाली पड़े भूखंड मालिकों के खिलाफ विभाग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

रोड लाइट लगाने के लिए टैंडर होने के बाद भी पसरा है अंधेरा
रिको क्षेत्र में रात्रि में रोशनी व्यवस्था को सुचारू करने के लिए विभाग द्वारा पूरे क्षेत्र में रोड लाइट का पिलर लगाया गया। वहीं हाल ही में रीको विभाग द्वारा क्षेत्र को दूधिया रोशनी से जगमगाने के लिए लाखों रुपए का रोड लाइट का टेंडर भी कर दिया। लेकिन टेंडर मालिक ने मात्र चार दिन खानापूर्ति की ओर चले गए।

मात्र चार लाइटों के लिए आवा पूरे रीको क्षेत्र की रोड लाइटें रात्रि में बंद रहती है। जिसके कारण रात्रि में रीको क्षेत्र में असामाजिक तत्वों का आतंक बढ़ गया है। इस संबंध में स्थानीय इकाई मालिकों द्वारा कई बार मांग उठाई गई है। लेकिन अभी तक उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

कार्यालय भी पड़ा है खंडहर
रिको एरिया में कोई भी समस्या हो उसके समाधान के लिए रीको विभाग द्वारा कार्यालय का निर्माण करवाया गया था। लेकिन अधिकारियों के नहीं बैठने के कारण इन दिनों यह रीको कार्यालय खंडहर के रूप में तब्दील हो गया है। वहीं कार्यालय में लगे दरवाजे और खिड़कियां भी चोर चुरा कर ले गए।

रीको कार्यालय के खंडहर होने के साथ साथ आस-पास की चार दीवारी भी ढहने लगी है। जिसके कारण इकाई मालिकों को रीको कार्यालय का लाभ नहीं मिल रहा है। वहीं छोटी मोटी समस्याओं से अधिकारियों को अवगत करवाने के लिए उन्हें जैसलमेर चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।

रिको क्षेत्र में व्याप्त अव्यवस्थाओं के समाधान को लेकर कई बार जिला मुख्यालय के अधिकारियों को अवगत करवाया है। लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिसके कारण इन दिनों इकाई मालिकों की समस्या बढ़ती जा रही है।
- मुकेश माली, इकाई मालिक, रीको इंडस्ट्रीयल एरिया पोकरण

रिको में न पानी की व्यवस्था है और न ही रात्रि में रोड लाइटों की। इसके साथ ही कई आवंटित भूखंड आज भी निर्माण के अभाव में खाली पड़े हैं। जिसके कारण रीको इंडस्ट्रीयल एरिया का विकास नहीं हो पा रहा है। इसके साथ ही यहां पर रीको कार्यालय होने के बावजूद अधिकारी नहीं आते हैं। ऐसे में इकाई मालिकों को परेशानी उठानी पड़ रही है।
- गजेन्द्र सोलंकी, इकाई मालिक, रीको इंस्ट्रीयल एरिया पोकरण

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें