पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पाॅलीथिन व गंदगी से फैल रही बीमारियां:पोकरण शहर में जगह जगह गंदगी का ढेर, सफाई की व्यवस्था नहीं

पोकरण2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पोकरण क्षेत्र में पाॅलीथिन के उपयोग और पॉलीथिन के कचरे को पशुओं द्वारा खाने से पशुओं में बीमारी फैल रही है। क्षेत्र में बड़ी मात्रा में प्रत्येक दिन दुकानदारों द्वारा पॉलीथिन व कचरा सड़कों व चौराहों पर फेका जाता है। वहीं कचरा पशु अपनी भूख मिटाने के लिए खाते हैं। पॉलीथिन के कचरे को खाने से पशुओं में आफरा, पाचन क्षमता एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने जैसी बीमारियां फैलती है। जिसके कारण पशु कुछ समय में अकाल मौत हो जाती है। कस्बे में सैकड़ों की संख्या में आवारा व पालतु पशु इस पॉलीथिन के कचरे का सेवन करते हैं। पोकरण क्षेत्र में पॉलीथिन का क्रय विक्रय व उपयोग खुलेआम हो रहा है। लेकिन अभी तक पॉलीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध नहीं लग पाया है।

आए दिन बैठकों में कागजों में ही पॉलीथिन का प्रतिबंध बना हुआ है। बैठकों में पॉलीथिन के उपयोग को बंद करने के लिए सुझाव व प्रस्ताव तो लिए जाते हैं। लेकिन उस पर अमल नहीं किया जाता है। प्रशासन द्वारा कुछ छोटे दुकानदारों पर कार्रवाई कर दी जाती है और इस कार्रवाई में बड़े पॉलीथिन विक्रेता बच कर निकल जाते हैं। इस कचरे के कारण शहर में सफाई व्यवस्था हर समय चौपट रहती है। नगरपालिका द्वारा सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए कोशिश की जाती है लेकिन कुछ समय पश्चात ही सब व्यवस्थाएं बिगड जाती है। पॉलीथिन के उपयोग को बन्द किए बिना स्वच्छ भारत अभियान कैसे सफल बनेगा कोई नहीं जानता।

क्षेत्र में पॉलीथिन का प्रतिबंध होने के बावजूद भी प्लास्टिक का उपयोग किया जा रहा है। अधिकारियों द्वारा इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पॉलीथिन के उपयोग को बंद करने के लिए हर वर्ष प्रशासन द्वारा छोटे दुकानदारों पर कार्रवाई कर बड़े दुकानदारों को छोड़ दिया जाता है। इसके कारण क्षेत्र में पॉलीथिन का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है।
-दीपक कुमार, स्थानीय निवासी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser