मौसम का बदला मिजाज:पाेकरण, रामदेवरा समेत कई गांवों में बारिश, सर्द हवाओं से सर्दी बढ़ी

पोकरण11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश के बाद जयनारायण व्यास चौराहे पर जमा बरसाती पानी। - Dainik Bhaskar
बारिश के बाद जयनारायण व्यास चौराहे पर जमा बरसाती पानी।

पोकरण में सुबह से लेकर शाम तक रुक-रुककर बारिश होती रही। साथ ही हवाओं ने ठिठुरन बढ़ा दी। शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में शुक्रवार को अलसुबह से ही रिमझिम बारिश का दौरा शुरू हुआ जो दिनभर जारी रहा। सर्दी के सितम में बारिश होने से लोगो को हाड़ कंपाने वाली सर्दी का सामना करना पड़ा। शहर में शुक्रवार को सूर्यदेव के दर्शन भी नही हुए। बारिश होने के कारण स्थानीय बाजार में भी कई दुकानें दिनभर बंद रही।

जिले के नहरी क्षेत्र में भी अच्छी बारिश हुई। मोहनगढ़ रामगढ़ व नाचना में देर रात से ही बारिश का सिलसिला शुरू हो गया जो शुक्रवार दोपहर तक चलता रहा। किसानों के चेहरों पर खुशी थी वहीं आमजन कड़ाके की ठंड से बेहाल नजर आया। लोगों ने दिन भर अलाव का सहरा लेकर सर्दी से बचने का जतन किया।

रामदेवरा | क्षेत्र में सुबह से ही आसमान में छाए बादलों के जमावड़े के साथ रुक रुक कर दिनभर रिमझिम बारिश का दौर चला। जिसके कारण दिनभर ठंड का असर बढ़ गया। दिनभर रुक रुक कर हुई रिमझिम बारिश के कारण सड़कें और गलियां पानी से तर हो गई। इसके साथ ही चलने वाली हवाओं के कारण दिनभर सर्दी का सितम जारी रहा।

लाठी | क्षेत्र में अलसुबह से हो रही मावठ की बरसात ने जनजीवन को अस्तव्यस्त कर दिया। कस्बे से लेकर ग्रामीण इलाकों में सब जगह शुक्रवार दिनभर रिमझिम बारिश का दौर जारी रहा। बारिश से ठंड बढ़ गई व तापमान में गिरावट दर्ज हुई। बरसात के कारण शीतलहर भी चलने लगी। गांव की मुख्य बाजार, गलियों, मुख्य मार्ग में पानी ही पानी भर गया। ऐसे में यहां से गुजरने वाले राहगीरों व वाहनचालकों को भारी परेशानियों से सामना करना पड़ा।

भणियाणा | उपखंड मुख्यालय के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ का असर शुक्रवार को देखने को मिला। सुबह से ही आसमान में बादलों की आवाजाही लगी रही। वहीं कई क्षेत्रों में रुक रुक कर बारिश का दौर चला। जिसके कारण दिनभर सर्दी का असर रहा। बादलों की आवाजाही और बारिश के कारण ठंड का असर बढ़ गया। वहीं आमजन को सर्दी का सितम उठाना पड़ा।

सुबह से ही बारिाश का दौर शुरू हो जाने से लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाए। दोपहर 12 बजे तक रुक रुक कर बारिश होती रही और शहर तरबतर हो गया। जिसके चलते दोपहर तक बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। उसके बाद तेज हवा के चलते दिन भर लोग धूजते रहे और आम दिनों की तुलना में बाजार में भीड़ कम रही। तेज ठंड के चलते लोग घरों में ही दुबके रहे।

खबरें और भी हैं...