पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आशीर्वाद लिया:डॉ. गुलाबसिंह की दंडवत यात्रा का रथ सिद्धपीठ कदलीवनधाम पहुंचा, शतचंडी यज्ञ में दी आहुतियां

पोकरण13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जहां पर डॉ. गुलाबसिंह ने संत ओम महाराज से आशीर्वाद लिया

शहर के सिद्धपीठ कदलीवनधाम में पिछले सात दिवसीय शतचंडी यज्ञ आयोजन के अंतिम दिन विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए। इस अवसर पर आचार्य राधाकिशन व्यास व गिरीराज व्यास के सानिध्य में उपस्थित पंंडितों ने दुर्गासप्तशती के पाठ किए तथा माता लक्ष्मी सहित अन्य देवी देवताओं का आह्वान किया। शतचंडी महायज्ञ के अंतिम दिन सुबह सभी देवी देवताओं का पूजन किया गया। इस के साथ ही उपस्थित यजमानों और श्रद्धालुओं द्वारा गुरुदेव का पूजन किया गया। जिसमें सभी यजमानों गुरु ओम महाराज का पूजन किया। इसके पश्चात पुर्णाहुति कार्यक्रम का आयोजन किया गया। रात्रि में सुंदरकांड का आयोजन हुआ। जिसमें काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। सुंदरकांड के पश्चात महाप्रसादी का आयोजन किया गया। जयपुर से तनोट तक दंडवत यात्रा कर रहे करणी माता के भक्त डॉ. गुलाबसिंह की दंडवत यात्रा का रथ मंगलवार की शाम को सिद्धपीठ कदलीवनधाम पहुंचा।

जहां पर डॉ. गुलाबसिंह ने संत ओम महाराज से आशीर्वाद लिया। साथ ही शतचंडी यज्ञ में आहुति दी। उन्होंने हनुमान मंदिर के दर्शन किए। साथ ही क्षेत्र में अमन चैन की कामना की। शतचंडी यज्ञ में क्रमवार दुर्गा सप्तशती के पाठ के साथ उपस्थित श्रद्धालुओं और यजमान द्वारा हवन में आहुति दी। कार्यक्रम की संपूर्ण व्यवस्था बाल संत वेदप्रकाश महाराज द्वारा संभाली। शतचंडी यज्ञ कार्यक्रम के तहत पंडित राधा कृष्ण व्यास एवं पंडित गिरीराज पुरोहित के द्वारा वैदिक मंत्रोचार के साथ आयोजन किया। जिसमें यजमानों द्वारा विभिन्न औषधियों से यज्ञ में आहुतियां दी। इस अवसर पर मुख्य यजमान जुगलकिशोर बिस्सा, विक्रमसिंह, गोपालसिंह, भगवानसिंह, जितेन्द्र विश्नोई, रवि विश्नोई, त्रिभुवन व्यास, अशोक राजपुरोहित झाबरा सहित कई यजमानों ने हवन में घी, तिल, जौ सहित विभिन्न जड़ी बूटियों से आहुति दी। कार्यक्रम के दौरान पंडित नारायण व्यास, राजा पुरोहित, पुरुषोत्तम राठी सहित काफी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...