पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शिविर समापन:बड़ोडा गांव के जोगीदास धाम में श्री क्षत्रिय युवक संघ के तीन दिवसीय शिविर का हुआ समापन

पोकरण2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • त्याग व संयम जीवन की प्रतिमूर्ति होते है क्षत्रिय

श्री क्षत्रिय युवक संघ के तीन दिवसीय शिविर का मंगलवार को जोगीदास धाम में समारोहपूर्वक समापन हुआ। विदाई कार्यक्रम के दौरान संचालन प्रमुख तारेंद्रसिंह झिनझिनयाली ने बताया कि इन तीन दिनों में बौद्धिक खेल व चर्चा के माध्यम से जीवन के प्रमुख आयामों को डालने का प्रयास किया।

उन्होंने विदाई उद्बोधन में कहा कि हमने हमारी कमजोरियों को जानने का प्रयास किया। हम हमारे जीवन को किस प्रकार जिए, हमारे जीवन का हमारे देश, समाज व कुटुंब में किस प्रकार उपयोग हो। यह सब बातें सीखने का प्रयत्न किया।

श्री क्षत्रिय युवक संघ में जीवन के चार आयाम धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष इन सभी का हमने अभ्यास किया। क्षत्रिय की परिभाषा को बताते हुए कहा कि क्षत्रिय जो स्वयं का बलिदान कर समाज में आदर्श स्थापित करें वही क्षत्रिय है। क्षत्रिय सदैव त्याग व संयम की प्रतिमूर्ति रहा है।

संघ आपको इस शिविर में विदाई देते हुए कहा कि आपने इस प्रांगण के अंदर जो कुछ पाया उसे अपने तक ही सीमित ना रखें क्योंकि किसी भी वस्तु को हम हमारे पास संग्रहित करके रखते हैं तो उसमें सड़न उत्पन्न होती है जो व्यक्ति इस संसार से लेता है और वह संसार में ना बाटे वह चोर है। हम क्षत्रिय हैं तो हमने यहां जो कुछ ग्रहण किया वह हमें समाज में बांटना है।

उन्होंने कहा कि पूज्य तनसिंह ने अपने साहित्य में यह बात स्पष्ट की है कि ईश्वरीय कार्य में हमेशा बाधाएं आती रहती है। हमें उन बाधाओं को हमारी विवेक शक्ति से पार कर ईश्वरीय कार्य में सदैव निरंतरता के साथ लगा रहना है। क्षत्रिय महापुरुषों का जीवन चरित्र बताते हुए कहा कि भगवान राम, भगवान कृष्ण, महाराणा प्रताप, राजा भोज दुर्गादास सहित अन्य सभी महापुरुषों का अगर हम जीवन चरित्र देखें तो उनके सामने भी बाधाएं आई व उन्होंने उन बाधाओं को पार किया। समारोह में चौदह गांवों के लगभग 150 छात्रों ने भाग लिया।

श्री क्षत्रिय युवक संघ का 75वां स्थापना दिवस हीरक जयंती वर्ष के रूप में जयपुर में 22 दिसंबर को मनाया जा रहा है। जिसमें श्री क्षत्रिय युवक संघ आप सभी से यह अपेक्षा रखता है की आप इस कार्य में पूर्ण मनोयोग से सहयोग देंगे जिसमें आपका समय बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह कार्य बहुत महत्वपूर्ण होने के कारण हम हमारा जितना अंश देंगे उससे कई गुना अधिक हमें प्राप्त होगा। प्यार कभी विफल नहीं जाता लेकिन जो हम त्याग कर रहे हैं। उसके पीछे त्याग की भावना ना हो हमारी भावना सात्विक हो हम इसे हमारा कर्तव्य कर्म समझकर करें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें