पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

श्रद्धालु:दूज के अवसर पर देश भर से रामदेवरा पहुंचे श्रद्धालु मास्क लगाने के बाद ही समाधि के दर्शन की अनुमति

रामदेवरा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दूज के अवसर पर रविवार को बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन करने के लिए देश भर से अलग-अलग स्थानों से पुरुष व महिला श्रद्धालु सपरिवार यहां पहुंचे। समाधि समिति व पुलिस प्रशासन के सहयोग से सभी श्रद्धालुओं को कोविड-19 की पालना करवाते हुए दर्शन करवाने की विशेष व्यवस्था की गई।

सुबह से लेकर देर शाम तक दर्शन करने वालों की गहमा गहमी लगी रही। बाबा रामदेव वंशज व गादीपति राव भोमसिंह तंवर सहित समाधि समिति के पुजारियों द्वारा अल सुबह 4 बजे दूध, दही, पंचामृत से अभिषेक के साथ मंगला आरती की गई। कोरोना संक्रमण के खात्मे की कामना के साथ विशेष रूप से पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर 8 बजे भोग आरती में बाबा की समाधि पर काजू, बादाम, अखरोट का भोग लगाकर मखमली चादर चढ़ाई गई।

इसके पश्चात समाधि पर स्वर्ण मुकुट स्थापित किया गया। दूरदराज से आने वाले हजारों श्रद्धालुओं ने स्वर्ण मुकुट समाधि के दर्शन कर सपरिवार बाबा की समाधि के दर्शन किए। समाधि समिति की तरफ से सभी श्रद्धालुओं को सुगमता पूर्वक दर्शन करवाने की विशेष व्यवस्था की गई।

समाधि समिति की तरफ से किसी भी श्रद्धालुओं को बिना मास्क पहने समाधि स्थल के अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। रविवार को दूज के अवसर भी समाधि समिति के कर्मचारी मुख्य द्वार पर मुस्तैदी से खड़े रहे। सभी श्रद्धालुओं से लगातार आह्वान किया कि बिना मास्क के कोई भी श्रद्धालु अंदर प्रवेश नहीं करे।

जो भी श्रद्धालु यहां पहुंचे सभी के मास्क पहने हुए थे। श्रद्धालु मास्क नहीं पहने हुए थे उन लोगों ने मास्क पहनने के पश्चात समाधि स्थल के अंदर प्रवेश कर के दर्शन किए। सभी श्रद्धालुओं के बीच 6 फीट की दूरी की सोशल डिस्टेंस की प्रमुखता से पालना करवाई गई। समाधि समिति व पुलिस प्रशासन के सहयोग से व्यवस्था संभाली गई थी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें