पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मारपीट के बाद आत्महत्या के मामले ने तूल पकड़ा:आत्महत्या के तीसरे दिन भी नहीं उठाया शव, आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग

सिणधरी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिणधरी. कस्बे में विरोध-प्रदर्शन करते विभिन्न संगठनों के लोग। - Dainik Bhaskar
सिणधरी. कस्बे में विरोध-प्रदर्शन करते विभिन्न संगठनों के लोग।

करडाली निवासी दलित युवक के साथ मारपीट के बाद आत्महत्या के मामले में 56 घंटे बाद भी परिजनों ने शव नहीं उठाया है। दलित समाज के सैकड़ों लोग तीन दिन से धरना-प्रदर्शन कर आरोपियों को गिरफ्तार किए जाने की मांग कर रहे है। इसके बावजूद भी पुलिस की ओर से आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है। इससे दलित समाज के लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

मेघवाल समाज भीम आर्मी एवं अन्य संगठनों के लोग धरना स्थल पर डटे हुए है। पूर्व जिला प्रमुख प्रियंका मेघवाल, मेघवाल समाज जिला अध्यक्ष तगाराम खती, कांग्रेस जिला महासचिव चूनाराम टाक, तोलाराम चौहान उन्नति संस्थान सिणधरी, भीम आर्मी जिला अध्यक्ष महिपाल खोरवाल, मूल निवासी संघ प्रदेश अध्यक्ष डूंगर सिंह नामा, दीपाराम टाक, दिनेश जाटोल, दीपक मसानिया एवं अन्य सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे।

धरना स्थल पर प्रशासनिक अधिकारियों अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरपत सिंह, गुड़ामालानी डीएसपी शुभकरण खींची, उपखंड अधिकारी वीरमा राम चौधरी, सीआई जेठाराम जयपाल, मूलाराम चौधरी एवं हरचंद राम देवासी ने कई बार धरनार्थियों से समझाइश की कोशिश की, लेकिन शव को उठाने को लेकर कोई समझौता नहीं हुआ।

जनप्रतिनिधियों में के.के. विश्नोई, पायला प्रधान चुन्नीलाल माचरा, उप प्रधान रहमान खां, आईदान राम सेंवर, देवाराम सेवर, कंवराराम सेंवर, जस्सा राम लेगा, पन्नाराम लेगा सहित कई लोग उपस्थित रहे। परिजनों द्वारा उच्च अधिकारियों द्वारा जांच, सरकार द्वारा मुआवजा, मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम एवं आरोपितों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की जा रही है।

खबरें और भी हैं...