पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सेवा का जज्बा:तबीयत खराब, फिर भी अस्पताल से मॉनिटरिंग कर रही एसडीएम

सिवाना/बाड़मेर19 दिन पहलेलेखक: दिलीपसिंह राजपुरोहित
  • कॉपी लिंक
कुसुमलता चौहान, उपखंड अधिकारी, सिवाना। - Dainik Bhaskar
कुसुमलता चौहान, उपखंड अधिकारी, सिवाना।

जिले के सिवाना में कार्यरत महिला एसडीएम कुसुमलता चौहान के कार्य जज्बे एवं सिवाना के प्रति स्नेह के लिए हर कोई तारीफ कर रहा है। बाड़मेर जिले की एकमात्र महिला अधिकारी की अचानक तबीयत नासाज हो जाने से जोधपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती होकर ऑपरेशन करवाना पड़ा।

इसको लेकर एडीएम ओमप्रकाश बिश्नोई ने एसडीएम को 4 जून तक अवकाश प्रदान कर कोविड प्रबंधन कार्य को लेकर आरएएस सांवरमल रैगर को नियुक्त किया गया, लेकिन सिवाना एसडीएम चौहान खुद के स्वास्थ्य की चिंता छोड़ लोगों के स्वास्थ्य की चिंता होने के कारण छुट्टी से पहले 31 मई को काम लौटने की बात कही है।

अस्वस्थ होने के बावजूद एसडीएम चौहान हॉस्पिटल से ही ऑफिस एंव ग्राम स्तरीय कमेटी से लगातार फोन पर अपडेट लेती रही। वहीं सिवाना के कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों के हाल जानने के लिए दिन के तीन बार डॉक्टरों एंव मरीज के परिजनों से फोन पर बात करती है एवं पूरे उपखंड कार्यालय को मॉनिटरिंग करती रही साथ ही अपनी पूरी टीम को फील्ड में मुस्तैद किया हुआ रखा है। वहीं वैक्सीन के लिए भी अलग से टीम बनाकर लोगों को वैक्सीन कर प्रति जागरूक किया जा रहा है।

महिला अधिकारी की कार्यशैली से प्रभावित होकर मंत्री ने की थी तारीफ

जिले में एक मात्र एसडीएम के रूप में सिवाना में कार्यरत कुसुमलता चौहान के कार्य करने के तरीके से हर कोई प्रभावित है। इसी के चलते सिवाना उपखंड को बाड़मेर में हमेशा अव्वल रखा। पिछले दिनों राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने कोविड प्रबंधन की मीटिंग के दौरान सिवाना में 10 बेड का कोविड केयर सेंटर खोलने के साथ कुछ टास्क दिये थे।

विपरीत परिस्थितियों के बावजूद महिला अधिकारी ने रात दिन एक कर भामाशाहों के सहयोग से 25 बेड को कोविड केयर सेंटर खोला एवं सभी पर 38 ऑक्सीजन सिलेंडर एंव 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन,12 फ्लोमीटर जुटाकर बेहतरीन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई।

साथ ही उचित प्रबंधन के चलते गांवों में कोविड फैलने से रोककर लोगो के जीवन को बचाने के साथ वैक्सीन, चिरंजीवी योजना एंव पालनहार योजना का अच्छा काम करने से राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने भी एसडीएम की प्रशंसा की थी। गौरतलब है कि सिवाना में काफी समय से तहसीलदार एंव नायब का पद रिक्त है ऐसे में अकेली महिला अधिकारी को सम्पूर्ण कार्य देखने पड़े।

भाई व मां को कोविड होने के बावजूद नहीं ली छुट्टी: सिवाना एसडीएम कुसुमलता चौहान ने पिछले कई माह से कोविड के चलते एक भी छुट्टी नहीं ली।जोधपुर में अपने भाई व मां को कोविड होने व अपने ननिहाल में रहने वाले 10 साल के पुत्र आयुष्मान से मिलने छुट्टी नहीं ली अपने बेटे व माता पिता से सिर्फ वीडियो कॉल से ही बातें की।

मेरी अचानक तबीयत खराब होने पर जोधपुर में ऑपरेशन करवाना पड़ा। वैसे मेरी छुट्टी 4 जून तक है लेकिन कोविड को लेकर सिवाना की चिंता सता रही है।31 मई को काम पर लौट आऊंगी।-कुसुमलता चौहान, उपखंड अधिकारी, सिवाना।

खबरें और भी हैं...