पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विजीलेंस टीम का विरोध:बिजली चोरी पकड़ने गई थी डिस्काॅम की टीम, लोगों ने विरोध किया तो लौटी

बयाना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्रामीणों ने लगाया वीसीआर का डर दिखाकर अवैध वसूला का आरोप

कस्बे के महादेव गली इलाके में बिजली चोरी पकड़ने गई डिस्कॉम की विजीलेंस टीम को स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। इससे टीम को खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। विरोध करने वाले लोगों का आरोप था कि विजिलेंस टीम लोगों के घरों पर आकर मोबाइल से फोटो खींच ले जाती हैं और फिर वीसीआर भरने का भय बनाकर उनसे अवैध वसूली करते हैं। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो व वीसीआर नहीं भरने के लिए मामले को रफा-दफा कराने की बातचीत का एक ऑडियो कस्बे के स्थानीय सोशल मीडिया ग्रुपों पर जमकर वायरल हो रहा है। इस पूरे प्रकरण में डिस्कॉम की किरकिरी होती नजर आ रही है।

दरअसल, बुधवार शाम को कस्बे की महादेव गली में एईएन (विजिलेंस) राजीव गुप्ता के नेतृत्व में विजिलेंस टीम सतर्कता जांच को गई थी। टीम को देखकर दर्जनों लोग मौके पर एकत्र हो गए और टीम के अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर खरी-खोटी सुनाई। लोगों का आरोप था कि विजिलेंस के नाम पर टीम के अधिकारी व कर्मचारी लोगों के घरों के फोटो खींच ले जाते हैं और फिर बाद में अपने एजेंट प्राइवेट व्यक्तियों से उपभोक्ता से बात कर वीसीआर नहीं भरने की एवज में 10 से 15 हजार रुपए देने की बात करते हैं।

विजीलेंस ने राजकार्य में बाधा की रिपोर्ट दी
उधर, मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने व डिस्कॉम की किरकिरी होने के बाद घटना के 24 घंटे बाद गुरुवार देर शाम विजिलेंस टीम में शामिल सहायक अभियंता (सतर्कता) राजीव गुप्ता कर्मचारियों के साथ थाने पहुंचे। एईएन गुप्ता व कर्मचारियों ने मामले को लेकर महादेव गली निवासी माधव उर्फ रोनू उपाध्याय व मनोहर के पुत्र को नामजद करते हुए विजिलेंस कार्यवाही के दौरान राजकार्य में बाधा पहुंचाने व सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर मानहानि करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में एईएन विजिलेंस ने बताया कि बुधवार की शाम करीब सवा पांच बजे वे कर्मचारियों के साथ महादेव गली इलाके में सतर्कता जांच करने गए थे।

उसी दौरान माधव उर्फ रोनू तथा मनोहर का पुत्र कुछ व्यक्तियों के साथ वहां आए और विजिलेंस कार्यवाही का विरोध करते हुए झगड़ा करने व हाथापाई पर उतारू हो गए तथा विजिलेंस टीम पर पैसे लेने का झूठा आरोप लगाया। रिपोर्ट में एईएन विजिलेंस ने बताया कि पूर्व में माधव व मनोहर की वीसीआर भरी गई थी।

जिसकी रंजिशवश उन्होंने राजकार्य में बाधा पहुंचाते हुए टीम को विजिलेंस कार्रवाई से रोका व अवैध वसूली के झूठे आरोप लगाए। उधर, डिस्कॉम के अधीक्षण अभियंता संजय अग्रवाल ने बताया कि कुछ दिनों पहले बयाना इलाके के संतोकपुरा, सादपुरा आदि आधा दर्जन गांवों के ग्रामीणों ने एईएन विजिलेंस के खिलाफ मुख्यमंत्री व विभागीय अधिकारियों को शिकायत की थी। जिस पर 3 दिन पहले ही जांच कमेटी गठित की गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें