पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आस्था का सम्मान या अपमान ये तस्वीर बदलनी चाहिए:पांच दिन पहले प्रशासन ने भरवाया था रवि कुंड, दशमी पर श्रद्धालुओं ने पीओपी की मूर्तियां और हवन सामग्री से भर दिया

बयानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रोक के बाद भी हजारों श्रद्धालुओं ने किए कैला देवी झील का बाड़ा के दर्शन

भले ही इस बार काेराेना संक्रमण के कारण देवस्थान विभाग ने जिले के प्रमुख आस्था धाम कैलादेवी झील का बाडा में भरने वाले शारदीय नवरात्र मेले काे निरस्त कर दिया हाे और श्रद्धालुओं के मंदिर भवन में प्रवेश पर राेक लगा दी हाे, लेकिन श्रद्धालुओं की आस्था कम नहीं हुई और नवरात्र के अंतिम तीन दिनाें यानी अष्टमी से लेकर दशमी तक करीब 30 हजार श्रद्धालु दर्शनाें काे पहुंचे। श्रद्धालु आस्था के नाम पर एक बार फिर से पर्यावरण से खिलवाड़ करते दिखे।

शारदीय नवरात्र समापन पर रवि कुंड व काली सिल में एक बार फिर से हवन सामग्री डालने और रवि कुंड में पीओपी यानी प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी मूर्तियों के विसर्जन के नजारे देखने को मिले। देवस्थान विभाग श्रद्धालुओं काे समझाते-समझाते थक गया है। लेकिन श्रद्धालु अभी भी आस्था व परम्परा के नाम पर अपनी आदताें में बदलाव नहीं ला पा रहे हैं।

पीओपी की मूर्तियों से पर्यावरण को भी खतरा

शास्त्रों में प्रतिमा बनाने के लिए जिन वस्तुओं का जिक्र किया गया है, उनमें पत्थर और मिट्टी मुख्य हैं। अलग-अलग जगहों की मिट्टी लाकर उससे पूजन का फल भिन्न-भिन्न है। नदी के तट की मिट्टी से धन लाभ, खेत की मिट्टी की प्रतिमा बनाकर पूजने से मनोवांछित लाभ, मिट्टी में गाय के गोबर को मिलाकर मूर्ति बनाकर पूजन करने से गो-धन्न लाभ होता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें