पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

12 दिन बाद ट्रैक से हटे गुर्जर:गुर्जरों ने पीलूपुरा में दिल्ली-मुंबई रेल ट्रैक पर चल रहा धरना खत्म किया, आज से शुरू हो जाएंगी ट्रेनें

बयाना2 महीने पहले
सरकार के साथ हुए समझौते का पत्र लिए गुर्जर नेता। गुर्जरों ने गुरुवार सुबह रेल ट्रैक पर 12 दिनों से चल रहा धरना खत्म कर दिया।

(महेश शर्मा). बैकलॉग व प्रक्रियाधीन भर्तियों में आरक्षण समेत 6 सूत्रीय मांग को लेकर पीलूपुरा रेल ट्रैक पर गुर्जर आंदोलन गुरुवार सुबह समाप्त हो गया। पिछले 12 दिन से रेलवे ट्रैक पर धरना दे रहे गुर्जर आंदोलनकारियों ने गुरुवार सुबह ट्रैक खाली कर दिया।

बुधवार रात जयपुर में सरकार से वार्ता के बाद हुए समझौते के बाद गुर्जर नेता विजय बैंसला के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल सुबह करीब 7:00 बजे पीलूपुरा रेलवे ट्रैक पर पहुंचा और ट्रैक पर जमे आंदोलनकारियों को समझौते के बिंदुओं के बारे में जानकारी दी।

आंदोलन की समाप्ति पर मिठाई बांटकर खुशी जताई
इसके बाद आंदोलनकारियों की सहमति होने पर आंदोलन समाप्त करने की घोषणा की गई। इसके बाद आंदोलनकारियों ने रेलवे ट्रैक खाली कर दिया। लोगों ने खुशी में भगवान देवनारायण के जयकारे लगाते हुए मिठाई बांटकर खुशी जताई। गुर्जर नेता विजय बैंसला ने कहा कि सरकार का रुख पूरी तरह सकारात्मक है और उम्मीद है कि समझौते की पालना शीघ्र होगी। इससे समाज के युवाओं को काफी लाभ मिलेगा।

ट्रैक खाली होते ही रेलवे ने मरम्मत का काम शुरू किया।
ट्रैक खाली होते ही रेलवे ने मरम्मत का काम शुरू किया।

गुर्जरों के ट्रैक खाली करने के साथ ही रेलवे ने ट्रक को सुधारने का काम युद्धस्तर पर शुरू कर दिया। रेलवे के एडीईइन मलखान सिंह मीणा के नेतृत्व में पहुंची टीम ने बयाना-फतेहसिंह पुरा रेलखंड पर मरम्मत का काम शुरू कर दिया। ट्रैक की जांच के बाद आज से दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा।

आंदोलन खत्म होने से आमजन पुलिस प्रशासन के साथ-साथ रेल यात्रियों को भी राहत मिली है क्योंकि दिवाली के मौके पर दूसरे शहरों में रह रहे लोग अपने घरों को आना चाहते थे लेकिन गुर्जर आंदोलन के चलते ट्रेनें बंद होने से असमंजस की स्थिति बनी हुई थी अब ट्रेन चालू होने से इन लोगों के चेहरे पर भी खुशी आ गई है क्योंकि त्योहार पर अब अपने परिवार के साथ मना पाएंगे।

इनसाइड स्टोरीः बैंसला की मांग पर बदली मंत्रि मंडलीय उप समिति, सुभाष गर्ग को किया शामिल
सूत्रों के मुताबिक खेल मंत्री अशोक चांदना के व्यवहार को लेकर कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला खासे नाराज थे। क्योंकि पहली बार ट्रैक पर बात नहीं हो पाने के कारण चांदना ने दूसरी बार वार्ता के लिए आने में काफी अहमियत दिखाई थी। बातचीत में भी उनका रुख सकारात्मक नहीं था। इसी तरह चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा से उनकी नाराजगी इसलिए थी क्योंकि उन्होंने गुर्जर समाज को तोड़ने के लिए हिम्मतसिंह गुट से वार्ता की।

बैंसला की मांग पर ही सीएम गहलोत ने मंत्रिमंडलीय उप समिति में बदलाव करते हुए भरतपुर से चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग को शामिल कराया ताकि समझौते का लागू करवाने में आसानी रहे। जबकि पानी-बिजली मंत्री बी डी कल्ला को खुद सीएम ने शामिल किया। इसी तरह वरिष्ठ आईएएस नीरज के. पवन को कर्नल किरोड़ी के बेटे विजय बैंसला की नाराजगी पर बातचीत से हटाया गया।

बैंसला गुट के समझौते में नया क्या
हालांकि बैंसला गुट की ओर से बुधवार रात जयपुर में मंत्रि मंडलीय उप समिति के साथ 6 सूत्रीय मांगों पर किए गए समझौते में ज्यादातर वही मांगें हैं जिन पर सरकार पहले ही सहमति दे चुकी थी। नहरा क्षेत्र के पंच-पटेलों वाले गुट के समझौते में भी इनमें से कई बिंदु शामिल थे।

लेकिन, बैंसला गुट के समझौते में देवनारायण योजना के तहत एमबीसी वर्ग के बालिका छात्रावास के लिए 50 नए बेड स्वीकृत किए जाने और सभी बिंदुओं पर सब कमेटी द्वारा प्रत्येक 3 माह में समीक्षा किए जाने के बिंदु नए हैं। इससे गुर्जरों को फिर से पटरियों पर बैठने की जरूरत ही नहीं पडे़गी।

260 घंटे बाद ट्रैक पर आई ट्रेन
आंदोलन समाप्त होने के बाद गुरुवार को 260 घंटे बाद फिर से दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर ट्रेनें दिखी। इससे पहले रेलवे के एडीईएन मलखान सिंह मीना के निर्देशन में इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रीकल, सिग्नल आदि की तत्काल मरम्मत की गई। इसके तुरंत बाद ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया।

स्टेशन अधीक्षक टीसी राजौरा ने बताया कि सबसे पहले 12.30 बजे बयाना स्टेशन से अमृतसर-मुंबई स्वर्ण मंदिर मेल ट्रेन को रवाना किया गया। 32 ट्रेनों का संचालन 11 दिन बंद रहने से रेलवे को 16 लाख रुपए का नुकसान हुआ। उधर,बसें चलने से स्टैंड पर यात्रियों की चहल-पहल दिखी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser