बयाना में अंधड़-बारिश से लुढ़का पारा:अंधड़ में उड़े होर्डिंग, बोर्ड और टीनशेड, रिमझिम बारिश से हिल स्टेशन सा हुआ नज़ारा, भीषण गर्मी-लू से मिली राहत

बयाना3 महीने पहले

प्रदेश में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ का असर बयाना में लगातार दूसरे दिन देखने को मिला। सोमवार सुबह पहले तेज तेज अंधड़ के बाद हुई रिमझिम बारिश से मौसम में ठंडक घुल गई। आंधी-बारिश से पारा 7 डिग्री तक लुढक गया। इससे लोगों को भीषण गर्मी और लू के थपेड़ों के दौर से निजात मिली। बारिश के बाद दोपहर को मौसम किसी हिल स्टेशन के नजारे जैसा दिखाई दिया।

बारिश के बाद दोपहर को मौसम किसी हिल स्टेशन के नजारे जैसा दिखाई दिया।
बारिश के बाद दोपहर को मौसम किसी हिल स्टेशन के नजारे जैसा दिखाई दिया।

आंधी में उड़े दुकाने के होर्डिंग-बोर्ड

सुबह करीब 9 बजे तेज अंधड़ का दौर शुरू हो गया। तेज अंधड़ से वातावरण में चारों ओर धूल के गुबार छा गए। आंधी में दुकानों के आगे लगे होर्डिंग बोर्ड, टिन, त्रिपाल भी उड़ गए। अंधड़ से ग्रामीण इलाकों में बिजली के पोल और पेड़ गिरने की भी खबर है। डिस्कॉम प्रशासन अंधड़ से बिजली तंत्र को हुए नुकसान के आकलन में जुट गया है। इस दौरान काफी देर तक बिजली भी गुल रही।

आसमान से बरसी राहत की बूंदें

डेढ़ घंटे तक चले अंधड़ के दौर के बाद आसमान में घने बादल घिर आए, हालांकि बादल उम्मीद के मुताबिक नहीं बरसे और केवल रिमझिम तक सिमट कर रह गए। इससे फिजा में ठंडक घुल गई। इससे लोगों को 45 डिग्री की तपाने वाली भीषण गर्मी और लू से राहत मिली।

खबरें और भी हैं...