एसडीएम को ज्ञापन:भाकिसं ने एसडीएम को ज्ञापन देकर बारिश से खराब हुई फसल के मुआवजे की मांग की

बयाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसडीएम को ज्ञापन सौंपते भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
एसडीएम को ज्ञापन सौंपते भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी।

बीते दिनों उपखंड क्षेत्र में हुई बारिश से बाजरे की फसल में काफी नुकसान हुआ है। किसानों को खेतों में हुए नुकसान का सर्वे करा कर मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर भारतीय किसान संघ के बैनर तले किसानों ने एसडीएम विनीता स्वामी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में किसानों ने बताया कि इलाके में गत दिनों हुई बरसात के साथ तेज हवा चलने से खेतों में खड़ी बाजरे की फसल गिर गई। जिन किसानों के खेतों मे कटी हुई फसल रखी थी। उसका दाना काला पड़ने से फसल खराब हो गई है।

वहीं चारे की क्वालिटी में भी गिरावट आई है। इससे किसानों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। किसानों की ओर से दिन रात मेहनत कर तैयार की गई फसल खराब होने से परेशान व चिंतित है। ऐसे में अन्नदाता की फसल के खराबे का कृषि पर्यवेक्षकों से सर्वे कराकर मुआवजा दिया जाए। इस दौरान संगठन के जिला उपाध्यक्ष नारायणसिंह धाकड, तहसील अध्यक्ष सुबुद्धीसिंह, रामप्रसाद कुशवाह, चरनसिंह, मनोज मुर्रकी, शेरसिंह आदि मौजूद रहे।

समर्थन मूल्य पर खरीद को लेकर सीएम को लिखा पत्र
रुपवास। कस्बे में भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मण्डल अध्यक्ष हरभान सिंह परमार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बाजरा की खरीद करवाने को लेकर राजस्थान के सरकार के मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखा है। लिखे गए पत्र में बताया गया है कि राजस्थान में बाजरा का उत्पादन समूचे देश मे होने वाले बाजरा के उत्पादन से आधा होता है।

भारत सरकार द्वारा बाजरा का समर्थन मूल्य 2250 रुपए घोषित किया हुआ है लेकिन राजस्थान में किसानों का बाजरा समर्थन मूल्य से करीब 800 से 1 हजार प्रति क्विंटल दर पर पिछली साल बिका है। ऐसी स्थिति में खेती की बढ़ती लागत को देखते हुए राजस्थान सरकार शीघ्र ही बाजरा की न्यूनतम समर्थन मूल्य खरीद कर किसानों को राहत देने का कार्य करे।

खबरें और भी हैं...