​​​​​​​बयाना में कोरोना का मरीज निकलने के बाद प्रशासन अलर्ट:बयाना सीएचीसी में कोविड वार्ड बनाया, पर्याप्त ऑक्सीजन रखने के दिए निर्देश

बयाना21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीएचसी में डॉक्टरों से कोरोना उपचार की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी लेतीं एसडीएम। - Dainik Bhaskar
सीएचसी में डॉक्टरों से कोरोना उपचार की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी लेतीं एसडीएम।

कोरोना की तीसरी लहर ने अब बयाना में भी दस्तक दे दी है। बयाना क्षेत्र के गांव नगला जैता (महरावर) में 58 वर्षीय व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला है। कोरोना पॉजिटिव को ओमिको जांच के लिए जिला मुख्यालय रेफर किया गया है। हालांकि मरीज की हालत सामान्य बताई जा रही है। उधर, तीसरी लहर में कोरोना का पहला पेशेंट आने के बाद एसडीएम विनीता स्वामी ने गुरुवार को सीएचसी में कोरोना वार्ड का निरीक्षण कर बीसीएमओ डॉ धर्मेंद्र चौधरी व सीएचसी इंचार्ज डॉ. जोगेंद्र गुर्जर से कोरोना मरीजों के उपचार के संबंध में उपलब्ध चिकित्सा व्यवस्थाओं तथा ऑक्सीजन की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली।

महरावर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के इंचार्ज डॉ. उत्तम शुक्ला ने बताया कि खांसी-जुकाम की शिकायत पर 58 वर्षीय व्यक्ति का 3 जनवरी को आरटी पीसीआर टेस्ट कराया गया था। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद व्यक्ति के सभी पांच परिजनों मां, पुत्रवधू व पोते-पोतियो का घर पर जाकर मेडिकल टीम ने स्वास्थ्य परीक्षण किया तथा उन्हें होम आइसोलेट रहने के निर्देश दिए हैं। उधर,कोरोना मरीज मिलने के बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने भी बचाव के लिए तैयारियां तेज कर दी गई है। कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना वार्ड तैयार कर दिया गया है। सीएचसी इंचार्ज डॉ.जोगेंद्र गुर्जर ने बताया कि कोरोना वार्ड में प्रत्येक बेड पर ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था के साथ ही ऑक्सीजन कंसंट्रेशन भी लगाए गए हैं।

बच्चों का कोविड टीकाकरण जोरों पर, बच्चों में दिखा उत्साह: नदबई। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए क्षेत्र में 15 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। वैक्सीनेशन के दौरान बच्चों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राहुल कौशिक ने बताया कि 15 वर्ष 18 वर्ष तक के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू होने से बच्चों में उत्साह देखने को मिल रहा है। जहां बच्चे वैक्सीन के प्रति पूरी तरह से जागरूक दिख रहे हैं। ओमिक्रोन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए चिकित्सा विभाग पूरी तरह से सतर्क है। इस मौके पर कोविड स्वास्थ्य सहायक मोहित गोयल, लोकेश बंसल, नितेश बंसल, ललित कुमार और महेश चंद आदि मौजूद थे।

भुसावर। सरकार की तरफ से 3 जनवरी से 15-18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई। जिसको लेकर बच्चो में उत्साह है साथ ही कौतूहल भी है। कोरोना संक्रमण को रोकने में ये एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार ने तीन जनवरी यानि सोमवार से बच्चों के लिए वैक्सीन की डोज लगाने शुरू किया।जिसे लेकर बच्चे उत्साहित है और वे कतार में लगकर वैक्सीन लगवा रहे है। ये जागरूकता ही बच्चो को कोरोना से बचाएगी। इस दिन 15 से 18 वर्ष के 40 बच्चों को आदर्श विद्या मंदिर में कोरोना की वैक्सीन विद्यालयों में जाकर की गई।

खबरें और भी हैं...