अपराध नियंत्रण के दिए निर्देश:पीसी बोले - ग्रामीणों की समस्याओं को मौके पर ही निपटाए जिससे वे शहर नहीं आएं

बयाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीओ कार्यालय में अधिकारियों से चर्चा करते डीसी व आईजी। - Dainik Bhaskar
सीओ कार्यालय में अधिकारियों से चर्चा करते डीसी व आईजी।
  • संभागीय आयुक्त बेरवाल व आईजी खमेसरा ने बयाना में अपराध नियंत्रण के दिए निर्देश

संभागीय आयुक्त पीसी बेरवाल व रेंज आईजी प्रसन्न कुमार खमेसरा बुधवार को बयाना पहुंचे। दोनों अफसरों ने बयाना के पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय व कोतवाली का निरीक्षण करते हुए स्थानीय पुलिस अधिकारियों से क्षेत्र में अपराध नियंत्रण को लेकर चर्चा की। इसके बाद इलाके की भौगोलिक व ऐतिहासिकता के बारे में जानकारी ली। डीसी व आईजी ने कहा कि पीड़ित परिवादियों की शिकायतों व समस्याओं का प्राथमिकता के साथ निस्तारण करना चाहिए।

क्योंकि स्थानीय स्तर पर समाधान नहीं होने पर कई बार उन्हें संभाग मुख्यालय पर आना पड़ता है। उन्होंने अपराध नियंत्रण के लिए प्रभावी उपाय करने के निर्देश दिए। असामाजिक तत्वों व अपराधियों पर कड़ी निगरानी के लिए गश्त व्यवस्था व मुखबिर तंत्र को सुदृढ़ करने की बात कही। साथ ही वांछित आरोपियों को गिरफ्तार करने को कहा। ताकि लोगों का पुलिस व प्रशासन पर विश्वास कायम बना रहे।

संभागीय आयुक्त बेरवाल ने कहा कि स्थानीय अधिकारियों को चाहिए कि मूलभूत समस्याओं को लेकर परेशान लोगों की समस्याओं का स्थानीय स्तर पर ही त्वरित निस्तारण होना चाहिए। ऐसे में अधिकारी संवेदनशील रहकर कार्य करें तथा सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का पात्र व्यक्तियों को लाभ मिलना सुनिश्चित करें।

आईजी ने रेडीमेड गारमेंट व्यवसाई का शीघ्र पता लगाने के निर्देश

आईजी खमेसरा ने बताया कि करीब डेढ़ माह पूर्व कस्बे के दर्जनों लोगों से मोटी रकम उधार लेकर लापता हुए रेडीमेड गारमेंट व्यवसाई राजीव गर्ग का जल्द सुराग लगाने के स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। इस संबंध में गत दिनों कस्बा निवासी महिला एडवोकेट निक्की बंसल ने संभागीय आयुक्त व आईजी से मिलकर शिकायत की थी।

जिसमें बताया था कि लापता गारमेंट व्यवसाई दर्जनों लोगों से करोड़ों रुपए उधार के तौर पर लेकर जानबूझकर फरार हुआ है। आईजी ने कहा कि इस मामले में अन्य पीड़ित लोगों को भी सामने आकर पुलिस में शिकायत करनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...