दहेज के लिए विवाहिता को घर से निकाला:बोले- बेटे की सरकारी नौकरी लग गई, 5 लाख रुपए और कार लाओ

बयाना14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शादी के बाद सरकारी नौकरी लगने पर पति और ससुराल वालों ने दहेज की मांग को लेकर विवाहिता को मारपीट कर घर से निकाल दिया। विवाहिता ने अब पति और ससुराल वालों के खिलाफ बयाना थाने में मारपीट और दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट में पति व ससुराल वालों पर दहेज में 5 लाख रुपए और फोर व्हीलर की डिमांड करने का आरोप लगाया है।

थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बयाना कस्बे के भीमनगर निवासी सपना ने बताया कि साल 2011 में उसकी शादी करौली की कृष्णा कॉलोनी निवासी सुभाष जाटव के साथ हुई थी। रिपोर्ट के मुताबिक शादी के समय सपना की उम्र मात्र 8 साल थी। बड़ी बहिन की शादी के समय ही उसके भी फेरे करा दिए गए थे। उस समय पति सुभाष बेरोजगार था। जिसकी बाद में सरकारी नौकरी लग गई।

सपना ने बताया कि फरवरी 2020 में ससुराल गई थी और उसका गौना हुआ था। ससुराल में पहले दिन से ही पति सुभाष, ससुर हरी, सास मंगलबाई, जेठ शेखर और देवर राहुल ने कम दहेज देने का ताना मारकर प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

ससुराल वाले कहते कि उनके लड़के की सरकारी नौकरी लग गई है। ऐसे में दहेज में 5 लाख रुपए और फोर व्हीलर चाहिए। सपना ने बताया कि कुछ दिन पहले पति सुभाष मारपीट कर उसे बाइक से मायके छोड़ गया। पति ने दहेज की मांग पूरी करने के बाद ही ससुराल ले जाने की कहा।

सब-इंस्पेक्टर रामदीन शर्मा ने बताया कि विवाहिता की रिपोर्ट पर जांच शुरु कर दी गई है। दोनों पक्षों को एक साथ बिठाकर काउंसिलिंग भी कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...