पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:3 दिन से आधे कस्बे में गंदे पानी की सप्लाई, शिकायत पर भी समाधान नहीं

बयानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नलों में गंदा पानी आने के कारण लोग पानी खरीदने को मजबूर

स्वच्छ व पर्याप्त जलापूर्ति का दावा करने वाला जलदाय विभाग लाेगाें काे साफ पीने याेग्य पानी तक उपलब्ध नहीं करा पा रहा है। विभाग के अफसरों व कर्मचारियाें की अनदेखी व लापरवाही के चलते आधे शहर काे तीन दिन से पीने के लिए साफ पानी नहीं मिल पा रहा है। नलाें में आ रहे गंदे पानी काे देखकर लाेग विभाग काे काेसते नजर आ रहे हैं।

जलदाय विभाग दफ्तर से मात्र 50 कदम की दूरी पर रहने वाले बिजलीघर राेड निवासी रिटायर्ड प्रिंसीपल मुरारीलाल खेमरिया ने बताया कि सप्लाई में इतना गंदा पानी आ रहा है कि पीना ताे दूर हाथ भी नहीं धाे सकते। जब शिकायत करने ऑफिस जाते हैं ताे काेई जिम्मेदार नहीं मिलता, जाे मिलते हैं वे एक-दूसरे पर टालते दिखते हैं। इसी तरह कल्याण काॅलाेनी निवासी लाेकेश सर्राफ ने बताया कि लगातार गंदे पानी की सप्लाई के कारण घर में लगा आरओ फिल्टर भी खराब हाे गया है।

इसी तरह बामडा मंदिर राेड निवासी शंभूदयाल गुप्ता ने बताया कि जलदाय विभाग का ताे राम ही रखवाला है कभी 3-4 दिन तक पानी नहीं आता ताे कभी गंदा पानी आता है। गंदे पानी के सेवन से हाेने वाली बीमारियों के डर से बाजार से आरओ प्लांट का कैम्पर खरीदना पड़ रहा है। शिवगंज मंडी निवासी हरीचरन गाेयल ने बताया कि गंदे पानी की सप्लाई के बावजूद विभाग उपभाेक्ताओं से लगातार बिल राशि वसूलता है।

लाेगाें ने चेतावनी दी कि अगर जल्द समस्या का समाधान नहीं हुआ ताे उन्हें विभागीय अधिकारियाें का घेराव करते हुए मटका फाेड़ आंदाेलन पर मजबूर हाेना पडेगा। उधर, भीतरबाडी निवासी बीजेपी महिला माेर्चा नेता हेमा शर्मा ने बताया लगातार मांग के बावजूद भीतरबाडी इलाके में प्रेशर नहीं आने का इश्यू बना हुआ है।

न दफ्तर में मिलते न फाेन उठाते हैं
लाेगाें ने बताया कि शिकायत के लिए दफ्तर जाने पर जिम्मेदार अधिकारी नहीं मिलते हैं तथा फाेन करते हैं ताे काॅल रिसीव नहीं करते हैं। जाे कर्मचारी मिलते हैं वे एक-दूसरे पर पल्ला झाड़ते नजर आते हैं। कई अधिकारी ताे जिला कलेक्टर के आदेशाें के बावजूद मुख्यालय पर नहीं ठहरते हैं।

गाैरतलब है कि गत माह भी 5 दिन तक लाेगाें काे गंदे पानी की सप्लाई मिली थी, तब विभाग का तर्क था कि नया ट्यूबवैल खुदवाने के कारण मिट्टी आ रही है, जबकि जानकाराें का कहना है कि नया ट्यूबवैल खुदाई के बाद ठेकेदार कम्प्रेशर से मिट्टीयुक्त पानी काे साफ करता है।

^ इस संबंध में पीएचईडी जेईएन मनोज चाैधरी ने बताया कि पहले मोटर खराब होने से पेयजल सप्लाई में बाधा हुई है थी, लेकिन उसे दुरुस्त करा दिया गया है। अगर फिर भी अंतिम सिरे तक लाेगाें काे पानी नहीं मिल रहा है ताे संभवत: पाइप लाइन में कचरा आ गया हाेगा। पाइप लाइन काे दिखवा कर समस्या काे दूर करेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें