भाड़े पर आई लुटेरी दुल्हनें नकदी-जेवर ले भागी:दलालों ने 7 लाख में करवाई थी दो भाइयों की शादी, दलाल व दुल्हनों को कोर्ट ने भेजा जेल

बयाना2 महीने पहले

शादी के 15 दिन बाद ही ससुराल से नकदी और जेवर लेकर फरार हुई दो लुटेरी दुल्हनों और उनके दलाल को गढ़ीबाजना थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गढ़ीबाजना थाना इलाके के गांव बैसोरा निवासी दो भाइयों से कुछ दलालों ने 7 लाख रुपए लेकर इन दुल्हनों से शादी कराई थी। लुटेरी दुल्हनों और दलाल कुलदीप जाटव का मेडिकल मुआयना कराकर कोर्ट में पेश किया। जहां से तीनों को जेल भेजने के आदेश दिए गए हैं।

पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि दुल्हन बनी इन लड़कियों को 2 हजार रुपए प्रतिदिन के भाड़े पर लाया गया था। पकड़ी गई लुटेरी दुल्हनें यूपी के फिरोजाबाद की रहने वाली प्रीति उर्फ सैफी और मैनपुरी की रहने वाली चांदनी उर्फ श्रद्धा हैं। जबकि दलाल कुलदीप जाटव फिरोजाबाद का रहने वाला है। उनके नाम बदलकर अपने गिरोह के साथ इसी तरह कुंवारे लोगों को शादी के नाम पर ठगने की बात भी सामने आई है।

17 फरवारी को हुई थी शादी
गढ़ीबाजना एसएचओ महेंद्र शर्मा ने बताया कि गांव बैसोरा के रहने वाले राजेश कुमार शर्मा ने इस्तगासा के जरिए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसमें बताया था कि अतीपुरा (करौली) के भरत शर्मा, फिरोजाबाद के कुलदीप जाटव और अन्य लोगों ने 7 लाख रुपये लेकर उसकी और उसके छोटे भाई रामेश्वर की प्रीति और चांदनी नाम की लड़कियों से 17 फरवरी 2022 को शादी कराई थी।

बेंगलुरु भाग गया मास्टरमाइंड
शादी के 15 दिन बाद प्रीति और चांदनी दोनों मौका देख कर घर से फरार हो गई। घर से जाते समय प्रीति और चांदनी घर में रखी 20 हजार की नकदी, सोने-चांदी के जेवरात और महंगे कपड़ों से भरे सूटकेस को ले गई थी। मामले में विशेष टीम गठित कर लुटेरी दुल्हनों और उनके दलाल को फिरोजाबाद और मैनपुरी से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि उन्हें अब पूरी घटना के मास्टरमाइंड भरत शर्मा की तलाश है। जो घटना के बाद बेंगलुरु भाग गया है।

खबरें और भी हैं...