सीना जोरी:कार सवारों ने एसएचओ को धमकाया, बोले- तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई?

बयानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सोमवार रात कस्बे में देखने को मिली। जब गश्त के दौरान स्कार्पियो गाड़ी में सवार दो युवक भाइयों ने चेकिंग के दौरान खुद थाना प्रभारी को कागजात दिखाने से साफ इंकार करते हुए अभद्रता कर दी। दोनों युवकों ने एसएचओ से यहां तक कह दिया कि तुम्हारी गाड़ी के कागज मांगने की हिम्मत कैसे हुई। दोनों युवक पुलिसकर्मियों से उलझते हुए मरने-मारने पर उतारू हो गए। हालांकि बाद में पुलिस ने दोनों युवकों को शांतिभंग में गिरफ्तार कर उनकी गाड़ी को एमवी एक्ट में जब्त कर लिया।

सोमवार रात एसएचओ पूरन सिंह मीणा व एएसआई ओमप्रकाश धाकड़ पुलिस जाब्ते के साथ रात्रिकालीन गश्त पर थे। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि पंचायत समिति रोड पर कृष्णा हॉस्पिटल के सामने हरियाणा नंबरों की एक स्कॉर्पियो गाड़ी में दो युवक बैठे हुए हैं। जो किसी से मारपीट करने की फिराक में हैं। सूचना पर एसएचओ जाब्ता को लेकर कृष्णा अस्पताल के सामने पहुंचे। जहां दोनों युवक अपनी गाड़ी में बैठे हुए थे। पुलिसकर्मियों ने दोनों युवकों से उनका नाम-पता पूछा तो युवकों ने अपना नाम वीरमपुरा गांव निवासी सुनील धाकड़ और ब्रजकिशोर धाकड़ बताया।

पुलिस ने जब दोनों युवकों से गाड़ी के कागज दिखाने को कहा तो दोनों युवक पुलिसकर्मियों पर बिफर पड़े। उन्होंने एसएचओ व अन्य पुलिसकर्मियों से कहा की तुम कौन होते हो, गाड़ी के कागजात देखने वाले और कागज मांगने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई। पुलिस द्वारा समझाइश करने पर दोनों युवक मरने-मारने पर उतारु हो गए। दोनों ने पुलिसकर्मियों से कहा की तुम हमें नहीं जानते हो, हमारी पहुंच बहुत ऊपर तक है और हमारे पास गाड़ी के कोई कागजात नहीं हैं।एसएचओ पूरन सिंह मीणा और पुलिस जाब्ता ने दोनों युवकों को काफी समझाया लेकिन जब वह नहीं माने तो पुलिस ने शांति भंग करने के जुर्म में दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों युवकों की स्कॉर्पियो को भी जब्त कर लिया।

खबरें और भी हैं...