नेशनल अचीवमेंट सर्वे:2707 शिक्षकों ने ली एनएएस ट्रेनिंग, स्कूलों में स्टूडेंट्स के बौद्धिक स्तर की करेंगे जांच

डीग2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना काल के समय में पिछले दो साल से शिक्षण व्यवस्था प्रभावित रही है। स्कूल बंद होने के कारण स्टूडेंट्स को बिना परीक्षा ही फार्मूले के आधार पर अगली कक्षाओं में प्रमोट किया कर दिया। हालांकि अब स्कूल खुल चुके हैं। शिक्षा को वापस पटरी पर लाने के लिए शिक्षा विभाग ने भी कार्य योजनाएं जारी कर दी हैं। स्टूडेंट्स का बौद्धिक स्तर कैसा है इसको जांचने के लिए अब नवंबर में नेशनल अचीवमेंट सर्वे (एनएएस) होगा।

शिक्षा विभाग ने सर्वे की तैयारियां शुरू कर दी हैं। यह पहली बार होगा कि आठवीं बोर्ड परीक्षा दिए बगैर 10वीं में पहुंचे स्टूडेंट्स का भी नेशनल अचीवमेंट सर्वे में लर्निंग टेस्ट लिया जाएगा। नेशनल अचीवमेंट सर्वे के दायरे में इस बार बढ़ोतरी की गई है। वर्ष 2021 में होने वाले सर्वे में कक्षा 3, 5 और 8 के साथ 10वीं के विद्यार्थियों के सीखने के स्तर की जांच के लिए केंद्र सरकार की ओर से नेशनल अचीवमेंट सर्वे करवाया जाता है।

स्टूडेंट्स के बौद्धिक स्तर की करेंगे जांच
नेशनल अचीवमेंट सर्वे में स्टूडेंट्स के बौद्धिक स्तर की जांच हो सके, इसके लिए जिले के 63 केंद्रों पर 2 हजार 707 शिक्षकों को एनएएस ट्रेनिंग दी गई है। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय प्रेमसिंह कुंतल ने बताया कि 11 व 12 अक्टूबर को जिले के 63 केंद्रों पर दो दिनों में 2 हजार 707 शिक्षकों को एनएएस की ट्रेनिंग दी गई। ट्रेनिंग के बाद अब 8वीं बोर्ड परीक्षा दिए बगैर 10वीं में पहुंचे स्टूडेंट्स का नेशनल अचीवमेंट सर्वे में लर्निंग टेस्ट होगा। 10वीं क्लास में हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान विषय में विद्यार्थियों का लर्निंग टेस्ट होगा। कक्षा 3, 5 व 8 के साथ 10वीं के विद्यार्थियों के सीखने के स्तर की जांच के लिए केंद्र सरकार की ओर से नेशनल अचीवमेंट सर्वे कराया जाएगा।

कोविड के कारण 2020 में नहीं हुआ था सर्वे
कोरोनाकाल की विपरीत परिस्थतियों के कारण वर्ष 2020 में यह एनएएस सर्वे नहीं हो सका था। 13 नवंबर 2017 को देश के सभी राज्यों में यह सर्वे कराया गया था। सर्वे में राजस्थान के स्टूडेंट्स के सीखने के लेवल में बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी। जिसमें प्रदेश को दूसरा स्थान मिला था। वर्ष 2015 के सर्वे में राजस्थान को 15वीं रैंक मिली थी।

जिले में 63 केंद्रों पर 2707 ने ली ट्रेनिंग
नेशनल अचीवमेंट सर्वे के लिए जिले के 418 पीईईओ परिक्षेत्र में 63 केंद्रों पर 2707 शिक्षकों को एनएएस की ट्रेनिंग दी गई। जिसमें कुम्हेर के 8 केंद्रों पर 258, बयाना के 6 केंद्रों पर 313, डीग के 12 केंद्रों पर 290, सेवर के 4 केंद्रों पर 258, नगर के 6 केंद्रों पर 273, पहाड़ी के 3 केंद्रों पर 200, नदबई के 6 केंद्रों पर 266, रूपवास के 8 केंद्रों पर 314, कामां के 3 केंद्रों पर 201 व वैर के 7 केंद्रों पर 334 शिक्षकों को एनएएस की ट्रेनिंग दी गई।

खबरें और भी हैं...