पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस ने किया हत्या का खुलासा:ताऊ ने ही भतीजे से चलवाई थी पैरों में गोली, लेकिन वो पीठ में लगने से हो गई थी मौत

डीग6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

थाना पुलिस ने अक्टूबर माह में गांव गिरसै में एक ही परिवार के दो पक्षों में जमीनी विवाद को लेकर हुए खूनी संघर्ष में एक जने की गोली मारकर हत्या का रविवार को खुलासा कर हत्या के आरोप में मृतक के ही भतीजे को गिरफ्तार किया है। आरोपी मृतक के भतीजे ने परिवार के दूसरे पक्ष के लोगों को हत्या के मामले में फंसाने के लिए जिस वारदात को अंजाम दिया वो उसने अपने उसी ताऊ के कहने पर की थी जिसकी हत्या हुई थी।

थाना प्रभारी रघुवीर सिंह ने बताया कि पीडित पक्ष के लोगों के साथ अन्य स्वतंत्र लोगों से की गई गहन पूछताछ के बाद हत्या की घटना का संदिग्ध परिस्थितियों में होने से यह साफ हो गया था कि जिन लोगों पर हत्या का आरोप लगाया था उनकी ओर से घटना को अंजाम देना संभव नहीं था।

जिसके बाद संदेह के दायरे में मृतक के परिजनों से की गई पूछताछ में खुलासा हुआ कि राजकुमार ने ही अपने सगे ताऊ झम्मन की गोली मारकर हत्या की थी। आरोपी राजकुमार हत्या का आरोप लगाने वाले बच्चूसिंह का पुत्र है। पुलिस ने आरोपी राजकुमार को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक पौना 12 बोर मय कारतूस के बरामद किया गया है।

परिवार के बीच चल रहा है जमीनी विवाद

आरोपी राजकुमार ने बताया कि उसके और चन्दनसिंह के परिवार के बीच पुराना जमीनी विवाद चला आ रहा है। विवाद में कई मुकदमे भी दर्ज कि गए। 26 अक्टूबर को विवाद के चलते दोनों पक्षों में पत्थर बाजी चल रही थी। मेरे पास एक पौना 12 बोर का था।

उसी समय मेरे ताऊ झम्मन ने मुझसे कहा कि मेरे पैरों में गोली मार दे, जिससे हत्या का केस बन जाएगा। जिसके बाद उसने अपने घर के बाहर ही ताऊ के पैरों में गोली चला दी। लेकिन घबराहट के कारण छर्रे पैरों में ना लगकर ताऊ की पीठ में लग गये और उसकी मौत हो गई।

एक ही परिवार के हैं दोनाें पक्ष
डीग थाने के गांव गिरसै निवासी एक ही परिवार के रोशन जाट और चन्दन जाट के बीच पिछले लंबे समय से पारिवारिक जमीन को लेकर विवाद चला आ रहा है। 26 अक्टूबर 2020 को जमीनी विवाद के संघर्ष में दोनों पक्षो के बीच हुई फायरिंग में गिरसै निवासी 56 वर्षीय झम्मन पुत्र किशोरी जाट की मौत हो गई थी।

मामले में मृतक के भाई बच्चूसिंह ने गांव के चमनप्रकाश, देवेन्द्र, प्रताप, शिवकुमार, बलवीर सहित करीब दो दर्जन नामजद लोगों के खिलाफ उसके भाई की गोली मारकर हत्या करने का मामला दर्ज कराया था।

खबरें और भी हैं...