पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

साधु संतों का धरना:आचार संहिता खत्म, सरकार ने नहीं लिया निर्णय तो अब आंदोलन होगा : राधाकांत

डीग20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डीग. क्रमिक अनशन पर बैठी महिलाएं। - Dainik Bhaskar
डीग. क्रमिक अनशन पर बैठी महिलाएं।
  • आज संतों की पंचायत में तय होगी आंदोलन की रणनीति, 234 दिन से चल रहा है अनशन

आदिबद्री-कनकाचल पर्वतों पर खनन के विरोध में साधु संतों का धरना रविवार को 234 वें दिन भी जारी रहा। वहीं धरने के साथ क्रमिक अनशन भी 25वें दिन जारी रहा। रविवार को धरनास्थल पर आंदोलकारियों की हुई बैठक में आज सोमवार को होने वाली संतों की पंचायत व कार्यकर्ता सम्मेलन की तैयारी को अंतिम रूप दिया गया।

संरक्षण समिति के संरक्षक राधाकांत शास्त्री ने कहा कि सोमवार को संतों की पंचायत बुलाई जा रही है। जिसमें ब्रज के प्रमुख संत हिस्सा लेंगे व उन्हीं के ही निर्देशन में आंदोलन की आगे की रणनीति तय की जाएगी। इस पंचायत में संपन्न होने वाले सक्रिय कार्यकर्ता सम्मेलन की अध्यक्षता विश्व प्रसिद्ध संत मलूक पीठाधीश्वर राजेंद्र दास महाराज करेंगे।

बरसाना के विरक्त संत रमेश बाबा महाराज के भी आने की पूर्ण संभावना बताई गई है। शास्त्री ने कहा कि सरकार अब जागे, आचार संहिता समाप्त हो चुकी और अगर अब भी संतों व ब्रजवासियों की मांग नहीं मानी तो अब आंदोलन संहिता लागू होगी। इस बार साधु-संत व बृजवासी सरकार पर बहुत भारी पड़ेंगे।

वहीं आंदोलन के सक्रिय सदस्यता अभियान के संयोजक ब्रजकिशोर बाबा ने बताया कि कार्यकर्ता अधिवेशन में 75 से अधिक गांवों के प्रमुख सक्रिय सदस्य व पदाधिकारी सम्मिलित होंगे। जहां उन्हें आंदोलन की संपूर्ण जानकारी व ब्रजभूमि को किस प्रकार विकसित करना है, इस विषय में साधु संत, क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व विशेषज्ञ उन्हें विशिष्ट प्रशिक्षण प्रदान करेंगे।

इधर जड़खोर गोधाम में संपन्न हुई सत्याग्रहियों की विशेष बैठक में सरकार को संबोधित करते हुए मलूक पीठाधीश्वर राजेंद्र दास महाराज ने कहा कि सरकार साधु-संतों की भावनाओं का सम्मान करते हुए शीघ्र दोनों पर्वतों के रक्षण हेतु निर्णायक बैठक कर इनके संरक्षण व संवर्धन का मार्ग प्रशस्त करे।

इधर आज आंदोलन के तहत आयोजित भागवत कथा के छठवें दिन भारी संख्या में ब्रज की महिलाओं ने बढ़-चढ़कर ब्रज के दोनों पर्वत आदि बद्री व कनकाचल को खनन मुक्त कराने की अंतिम लड़ाई में ब्रजवासियों व साधु संतों का हर कदम पर एवं हर प्रकार से सहयोग देने की शपथ ली।

खबरें और भी हैं...