पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डीग नपा मीटिंग:पार्षदों की कुर्सियों पर आकर बैठ गए उनके परिजन, बाहर निकालने की मांग पर 20 मिनट तक हंगामा

डीग6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डीग. पार्षदों से ज्यादा उनके परिजन बैठक में मौजूद रहे। - Dainik Bhaskar
डीग. पार्षदों से ज्यादा उनके परिजन बैठक में मौजूद रहे।

प्रशासन शहरों के संग अभियान में कस्बे के सौंदर्यीकरण और वार्डों में विकास कार्यों कराए जाने के लिए मंगलवार को हुई नगर पालिका की बोर्ड मीटिंग में करीब 20 मिनट तक हंगामा हुआ। क्योंकि सभागार में पार्षदों की कुर्सियों पर उनके परिजन आकर बैठ गए थे। पार्षद मुकेश सिंह ने इसका विरोध करते हुए उन्हें बाहर निकालने की मांग की, इसी पर हंगामा हो गया।

इस पर पालिकाध्यक्ष निरंजन टकसालिया ने पार्षदों के परिजनों को सभागार से बाहर चले जाने को कहा। लेकिन, कुछ गए और कुछ फिर भी वहीं जमे रहे। बोर्ड मीटिंग में जरूरत के मुताबिक वाहन खरीदने, सौर ऊर्जा प्लांट लगाने, विभिन्न वार्डों में विकास कार्य करवाने, श्मशान स्थलों पर हाई मास्क लाइट लगवाने, मेला मैदान की दुकानों का जीर्णोद्धार समेत कस्बे में सौंदर्यीकरण के कई प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किए गए।

अधिशाषी अधिकारी पुरुषोत्तम पंवार ने बताया कि 2 अक्टूबर से शुरू हो रहे प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत 15 सितंबर से 25 सितंबर तक पट्टों के लिए लग रहे विशेष शिविर लगाए जाएंगे। इन शिविरों के लिए कनिष्ठ अभियंता सुनील दत्त चतुर्वेदी को नोडल अधिकारी बनाया है। मीटिंग में कुछ पार्षदों ने कहा कि नेहरू पार्क परिसर में विकास कार्यों के लिए 3 करोड रुपए का पहले भी एस्टीमेट बनाया था।

इसी तरह नेहरू पार्क में नगर पालिका के नए भवन के लिए पहले भी स्वीकृति जारी हो चुकी है। फिर नए प्रस्ताव क्यों लिया जा रहे हैं। उनकी बात अनसुनी हो गई। इधर, कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बावजूद नगर पालिका बोर्ड मीटिंग में जिम्मेदार ही लापरवाह नजर आए। मीटिंग में अधिशाषी अधिकारी समेत नगर पालिकाध्यक्ष, उपाध्यक्ष और अनेक पार्षद पूरे समय बगैर मास्क के बैठे रहे।

खबरें और भी हैं...