प्रशासन नहीं आया लोगों के संग:डीग में अब तक किसी को नहीं मिला पट्टा पहले दिन दिए 5 पट्टे भी वापस मंगवा लिए

डीग20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डीग. 2 अक्टूबर को लाभार्थी को दिया पट्टा, जिसे बाद में वापिस ले लिया। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
डीग. 2 अक्टूबर को लाभार्थी को दिया पट्टा, जिसे बाद में वापिस ले लिया। (फाइल फोटो)

तीन महीने पहले की तैयारियां। प्रचार-प्रसार और फाइलें तैयार कराने पर लाखों रुपए खर्च। फिर भी नतीजा ढाक के तीन पात। जी हां, प्रशासन शहरों के संग अभियान में केवल खानापूर्ति की जा रही है। जिले के डीग उपखंड में पिछले 5 दिन के दौरान एक भी पट्टा वितरित नहीं किया जा सका है। बल्कि पहले दिन यानि 2 अक्टूबर को जिन 5 लोगों को पट्टे देकर फोटो खिंचाई गई थी। उनसे भी पट्टे वापस मंगवा लिए गए हैं। लोग परेशान हैं कि पहले पट्टे दिए ही क्यों और दिए तो वापस क्यों लिए।

उल्लेखनीय है कि अभियान के तहत डीग कस्बे के किसी भी वार्ड में शिविर नहीं लगे हैं। मुख्य बाजार स्थित पुराने नगर पालिका भवन में ही शिविर के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। यहां 2 अक्टूबर को मंच पर 5 लोगों को पट्टे वितरित कर अफसरों और नेताओं ने फोटो खिंचवाकर वाहवाही लूटी। लेकिन, अब वे सभी 5 लाभार्थी उन पट्टों के लिए नगर पालिका के चक्कर काट रहे हैं।

शिविर में नहीं हो रहे अन्य काम
सरकार ने इन शिविरों में पट्टा वितरण के अलावा दूसरे महकमों से जुड़े कई अन्य काम करवाने का दावा किया है। जैसे भवन निर्माण स्वीकृति, भूमि रूपांतरण, नाम हस्तांतरण, लीज राशि जमा करना, फ्री होल्ड पट्टे देना, जाति, मूल निवास, हैसियत, जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र समेत कई काम होने हैं। लेकिन, अन्य किसी भी विभाग के कर्मचारी शिविरों में नहीं आ रहे हैं।

सीधी बात- पुरुषोत्तम पंवार, ईओ

पट्‌टे वापस मंगाने की शिकायत नहीं मिली

भास्कर- प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर वार्डों में क्यों नहीं लग रहे हैं?
जवाबः
वार्डों में 15 से 25 सिंतबर तक प्री कैंप लगाए थे। अभी फॉलोअप कैंप लग रहे हैं। इसके बाद 15 अक्टूबर से वार्डों में कैंप लगाएंगे।

भास्कर- सरकार के निर्देशों के बावजूद इन शिविरों में दूसरे विभागों से जुडे काम क्यों नहीं हो रहे हैं?
जवाबः
शिविर में नगर पालिका के कर्मचारी ही रहते हैं। दूसरे विभागों के लोग नहीं आ रहे हैं। एक दिन श्रम विभाग से आए थे।

भास्कर- डीग में 2 अक्टूबर से अब तक एक भी पट्टा जारी नहीं हुआ, ऐसा क्यों?
जवाबः
पहले दिन 5 पट्टे जारी किए थे। बाकी लोगों के पट्टे तैयार हैं। इन्हें जल्दी वितरित करेंगे।

भास्कर- पहले दिन दिए पट्टे वापस क्यों मंगवा लिए। लोग अभी भी चक्कर काट रहे हैं?
जवाबः
ऐसा नहीं हैं। पट्टे वापस मंगाए जाने के संबंध में मुझे किसी की शिकायत नहीं मिली है।

खबरें और भी हैं...