धरना प्रदर्शन:ग्राम विकास अधिकारियों ने दिया पंचायत समिति मुख्यालयों पर धरना, सरकार के खिलाफ नारेबाजी

डीग4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीग. पंस गेट पर धरने के साथ नारेबाजी करते ग्राम विकास अधिकारी। - Dainik Bhaskar
डीग. पंस गेट पर धरने के साथ नारेबाजी करते ग्राम विकास अधिकारी।
  • 11 सूत्री मांगों को लेकर 25 सितंबर को जिला मुख्यालय पर करेंगे धरना-प्रदर्शन, 28 से पुनः चलाएंगे आग्रह पत्र कार्यक्रम

प्रदेश सहित जिले में 11 सूत्री मांगों को लेकर लंबे समय से आंदोलन कर रहे ग्राम विकास अधिकारियों ने शनिवार को सरकार का ध्यान आकर्षण करने के लिए पंचायत मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

धरने के दौरान राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ के जिलाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण कौंरेर ने कहा कि शनिवार को जिले सहित प्रदेश की 352 पंचायत समिति मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन के बाद अब 25 सितंबर को समस्त 33 जिला मुख्यालयों पर धरना देकर सरकार का ध्यानाकर्षण करने के साथ 28 से पुनः आग्रह पत्र कार्यक्रम से सरकार का ध्यान खींचने का प्रयास करेंगे। इसके बाद भी मांगों पर विचार नहीं किए जाने पर 1 अक्टूबर से सम्पूर्ण प्रदेश में अनिश्चितकालीन कलमबंद असहयोग आंदोलन किया जाएगा। वहीं 2 को सत्याग्रह रक्तदान शिविर होगा।

संघ की ब्लॉक अध्यक्ष प्रेमलता अग्रवाल ने बताया कि राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ की ओर से चरणबद्ध तरीके से आंदोलन चलाया जा रहा है। 16 अगस्त को ग्राम विकास अधिकारियों की ओर से कलेक्टर एवं जिला परिषद सीईओ के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया था। इसके बाद 25 अगस्त को दोबारा आग्रह पत्र दिया गया। इस पर भी कोई असर नहीं हुआ तो संघ ने मजबूरन एक सितंबर से सभी ऑनलाइन कार्य बंद कर दिए। धरने के दौरान खेमचंद शर्मा, अतुल शर्मा, विक्रम सिंह, सतवीर सिंह, राजेश आदि ग्राम विकास अधिकारी मौजूद रहे।

यह हैं ग्राम विकास अधिकारियों की मांगें

ग्राम विकास अधिकारी संघ की मुख्य मांग वेतन विसंगति दूर कर ग्रेड पे 3600 रुपए करवाना, 9-18-27 साल की सेवा पर एसीपी के स्थान पर चयनित वेतनमान स्वीकृत करना। ग्राम विकास अधिकारी संवर्ग के 4000 से अधिक रिक्त पदों की भर्ती करना। जिला कैडर परिवर्तन नीति लागू करना। 5 वर्षों से लंबित पदोन्नति करना। कैडर स्ट्रैंथ के लिए उच्च पद स्वीकृत करना और 9 लिखित समझौते लागू करवाना। ग्राम पंचायत कार्यालय संचालन में आ रही विभिन्न ऑनलाइन जटिलताओं को दूर करवाना। पट्टा रूपांतरण, स्थानांतरण, बंटवारा, नामांतरण आदि की प्रक्रिया जारी करवाना। जटिल निर्माण नीति को दुरुस्त करवाना एवं शेड्यूल ऑफ पावर को संशोधित करवाना शामिल हैं।

सरकार पर लगाया मांगों की अनदेखी का आरोप, कहा-पूरी नहीं हुईं तो करेंगे आंदोलन

नगर। राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ ने 11 सूत्रीय मांगों को लेकर राज्य सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया है। शनिवार को ग्राम विकास अधिकारियों की ओर से 11 सूत्रीय मांगों को लेकर पंचायत समिति कार्यालय पर एक दिवसीय ध्यानाकर्षण धरना दिया गया। उन्होंने राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी व प्रदर्शन कर मांगों के शीघ्र समाधान की मांग रखी।

ग्राम विकास अधिकारी संघ अध्यक्ष गोपालराम शर्मा ने बताया कि ग्राम पंचायतों में कार्यरत ग्राम विकास अधिकारी लंबे समय से समस्याओं को उठा रहे है। लेकिन सरकार की ओर से कर्मचारी हितों की निरंतर अनदेखी की जा रही है। जो गलत है। ऐसे में वीडीओ ने 11 सूत्रीय मांगों का स्थाई समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष चंद्रपाल शर्मा, कालीचरण शर्मा, बुद्वीसिंह, योगेश बंसल, प्रेमसिंह, सतीश गुप्ता आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...