पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काउंसिलिंग:10 में से 8 बच्चों ने पढ़ने की जताई इच्छा, बाल समिति करवाएगी स्कूल में एडमिशन

धौलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाल संप्रेक्षण गृह में रहने वाले बच्चे अब स्कूल में पढ़ाई कर सकेंगे। साथ ही संप्रेक्षण गृह में पेटिंग के साथ ही नाॅलेज की किताबें भी पढ़ सकेंगे। शनिवार को बाल कल्याण समिति के निर्देशन में संप्रेक्षण गृह में रहने वाले बच्चों की मनोचिकित्सक द्वारा जांच के बाद काउंसिलिंग की गई। समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि मनोचिकित्सक की जांच में 10 में से 8 बच्चों पढ़ने की इच्छा जताई है। साथ ही कुछ बच्चों ने पेटिंग करने में भी रूचि जताई है। जिसको लेकर अध्यक्ष रवि पचौरी ने भी बच्चो से बात की तो बच्चों ने कहा कि वे स्कूल जाना चाहते हैं और पढ़ना भी चाहते हैं।

समिति सदस्य गिरीश गुर्जर ने बताया कि बच्चों की रुचि को देखते हुए उनका सरकारी स्कूल में एडमिशन करवाया जाएगा, ताकि वे पढ़कर अपने भविष्य को अच्छा बना सकें। बाल संप्रेक्षण गृह में पहुंची टीम ने बच्चों को शपथ दिलाई कि वे देश का अच्छा नागरिक बनेंगे। अपनी की हुई गलती का सुधार करेंगे। संप्रेक्षण गृह परिसर को साफ सुथरा रखेंगे और किसी भी प्रकार की शैतानियां नहीं करेंगे।

खबरें और भी हैं...