मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना:बनाएं योजना का लोगो और जीतें एक लाख रुपए का प्रथम पुरस्कार

धौलपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में 1 मई से लागू होने जा रही मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का लोगो बनाकर प्रदेश के निवासी लाखों रूपए का पुरस्कार जीत सकते है। विभाग द्वारा योजना में आमजन की सहभागिता के लिए ये प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इसके लिए आवेदनकर्ता को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के लोगो की डिजाइन बनाकर उसे ऑनलाइन जमा कराना होगा जिसमें तीन सर्वश्रेष्ठ लोगो को पुरस्कार प्रदान किया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गोपाल प्रसाद गोयल ने बताया कि योजना में आमजन की सहभागिता जोडने के लिए लोगो डिजाइन प्रतियोगिता का आयोजन विभाग द्वारा किया जा रहा है। प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 1 लाख रूपये, द्वितीय पुरस्कार 75 हजार रूपये और तीसरा पुरस्कार 50 हजार रूपये का रखा गया है। यह प्रतियोगिता केवल प्रदेश के नागरिकों के लिये मान्य है।

राजस्थान के निवासी 15 अप्रेल 2021 को सांय 5 बजे तक अपना बनाया हुआ लोगो डिजिटल फॉर्म जेपीजी या पीएनजी में विभागीय वेबसाइट www.health.rajasthan.gov.in/mmcsby पर सबमिट करा सकते है, साथ ही इस संबंध में सभी जानकारी भी इसी वेबसाइट से प्राप्त कर सके ते है। प्रतियोगिता में उम्र और शैक्षणिक योग्यता की कोई बाध्यता या सीमा नही है। एक व्यक्ति केवल एक ही डिजाइन भेज सकता है। विभाग द्वारा एक कमेटी बनाकर सभी डिजाइनों में से तीन सर्वश्रेष्ठ लोगो का चयन कर उन्हें सम्मानित किया जायेगा।

डॉ. गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीयन का कार्य पंजीयन शिविरों के अन्तर्गत 30 अप्रेल तक ग्रामीण क्षेत्रों में गांवों में तथा शहरी क्षेत्रों में वार्डाे में होगा। सभी संभावित लाभार्थियों का ई-मित्रा पर पंजीयन बिलकुल निःशुल्क होगा और उनसे पंजीयन, प्रि-प्रिंट कागज और प्रिन्ट के लिये किसी प्रकार का कोई शुल्क नही लिया जायेगा। योजना से प्रदेश के प्रत्येक परिवार प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये तक का निःशुल्क इलाज सरकारी और सम्बद्ध निजी अस्पतालों में ले पायेंगे।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्रा लाभार्थियों को योजना का लाभ पहले से ही मिल रहा था, अब माननीय मुख्यमंत्री जी की बजट घोषणा के अनुरूप राज्य के संविदाकर्मियों, लघु एवं सीमांत कृषकों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल पायेगा। इसके अतिरिक्त प्रदेश के सभी अन्य परिवारों को बीमा प्रीमीयम की 50 प्रतिशत राशि 850 रूपये पर वार्षिक 5 लाख रूपये तक की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो पायेगा।

खबरें और भी हैं...