पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गांवों में जलसंकट:डांग के कुएं-बावड़ी सूखे, 3 किलोमीटर दूर से महिलाओं को लाना पड़ रहा पीने का पानी

सरमथुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरमथुरा. गांव के एक कुएं पर पानी भरने के लिए जुटी महिलाएं। - Dainik Bhaskar
सरमथुरा. गांव के एक कुएं पर पानी भरने के लिए जुटी महिलाएं।
  • चंबल नदी से करीब 15 किमी. दूरी पर बसे एक दर्जन से अधिक गांवों में जलसंकट

गर्मी में डांग इलाके के लोग पानी की भीषण कमी से जूझ रहे हैं। आलम यह है कि ग्रामीण महिलाएं कोसो दूर से पानी की जुगाड़ करने में लगी हैं वही पशुपालक मवेशी के साथ पलायन करने के लिए मजबूर हैं। लेकिन ग्रामीणो की समस्या को लेकर ना तो प्रशासन के अधिकारी गंभीर है ना ही जलदाय विभाग के अधिकारियो ने समस्या की तरफ कोई ध्यान दिया है।

जिसके कारण डांग इलाके के लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड रहा है। धौंध सरपंच प्रतिनिधि शैलू गुर्जर ने बताया कि धौंध पंचायत के धौंध, वरखेडा, मथारा, विदरपुर, रामबक्शपुरा व इन्दौरा गांव के लोग कुओं-बावडियों पर निर्भर है। जलाशयों की हालत यह है कि सूखने के कगार पर पहुंच गए है। वही वरखेडा के लोग पोखर का पानी पीने को मजबूर है।

दोनो पंचायतों में पानी के अभाव में पशुपालक मवेशी के साथ पलायन करने के लिए मजबूर हैं। वहीं गांव की महिलाएं लगभग तीन किमी दूर अन्य गांवों से सिर पर पानी भरकर लाने को मजबूर हैं। इसी प्रकार गौलारी पंचायत के गांवो में पानी की कमी के कारण लोगों का जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है।

सरपंच सीताराम गुर्जर ने बताया कि जलदाय विभाग की लापरवाही के कारण बल्लापुरा, महुआ की झोर, कोटरा आदि गांवो में कई दिनो से पानी की किल्लत फैली हुई है जिसके कारण बल्लापुरा के ग्रामीण दूसरे गांव से पानी मांगकर ट्रैक्टर-टैंकर से ला रहे हैं। इसके बावजूद भी जलदाय विभाग के अधिकारी भी कोई ध्यान नहीं दे रहे।

विधायक खिलाड़ी लाल ढाई साल में भी नहीं करवा पाए पेयजल की व्यवस्था, वरखेड़ा में पोखर ही सहारा

पदमपुरा में शिक्षक ने स्वयं के खर्च पर टैंकरों से कराई पानी की आपूर्ति

सरमथुरा नपा के पदमपुरा के ग्रामीण पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। गांव में पानी की समस्या को देखते हुए शिक्षक सतीश मीणा ने टैंकरों से पानी की आपूर्ति शुरू कराई है, जिससे लोगों को काफी राहत मिली है। मीणा ने बताया कि ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए निजी खर्चे से गांव के कुओं में टैंकरों द्वारा पानी डलवाया जा रहा है। जबकि गांव में जलदाय विभाग द्वारा पानी की आपूर्ति के लिए टंकी बनाई हुई है। सरमथुरा नपा के नकटपुरा गांव में पानी की समस्या से ग्रामीण परेशान हैं। महिलाओं ने 7 दिन पहले बसेडी विधायक बैरवा से भी शिकायत की थी।

डांग की धौंध व गौलारी पंचायत में पानी की समस्या को देखते हुए जेजेएम योजना के तहत धौंध के इंदौरा में 42.28 व गौलारी के गोपालपुरा में 111.13, जखा में 167.31 व गौलारी में 114.98 लाख की हर घर नल कनेक्शन देने की योजना स्वीकृत कराई है वहीं दोनों पंचायतों में 84 गांवों में पेयजल योजना के तहत आपूर्ति की जाती है। यदि इन पंचायत के गांवों में पानी प्रभावित है तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी।
- खिलाड़ीलाल बैरवा, विधायक बसेड़ी

धौंध व गौलारी पंचायत में पानी की किल्लत की शिकायत नहीं मिली। अधिकारियों को पानी की नियमित आपूर्ति करने के निर्देश दिए हुए हैं, अगर इन पंचायतों में नियमित आपूर्ति नही की जा रही है तो शनिवार को खुद मॉनीटरिंग कर सख्त कार्रवाई करेंगे।
- मनीष कुमार जाटव, एसडीएम सरमथुरा

खबरें और भी हैं...