पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रकरणों की समीक्षा:विड्रावल समिति की बैठ, लघु प्रकृति के 5 मुकदमों को वापिस लेने का निर्णय

धौलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लघु प्रकृति के मुकदमों को वापस लेने के लिए गठित विड्रावल समिति की बैठक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नरेन्द्र मीणा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों द्वारा न्यायालयों से प्राप्त सूची में दर्ज प्रकरणों की समीक्षा के उपरान्त सूची में अंकित कुल 5 प्रकरणों को वापिस लिए जाने की अनुशंषा करते हुए विशिष्ट शासन सचिव गृह एवं संयुक्त विधि परामर्शी राजस्थान से इन मुकदमों को वापिस लेने के लिए बैठक में समिति द्वारा लिए गए निर्णय के उपरांत राज्य सरकार को भिजवाए गए।

गृहविभाग का कहना है कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय कमेटी में इन केसेज को रखा जाता है। कमेटी सिफारिश के साथ प्रस्ताव सरकार को भिजवाती है। गृह विभाग में फिर इनका परीक्षण कराया जाता है और इसके बाद सरकार अपनी मुहर लगाती है।

उन्होंने बताया कि सामान्य एवं लघु प्रकृति के विचाराधीन प्रकरणों के निस्तारण के लिए राज्य सरकार का कहना है कि लोगों को राहत देने, केसेज के त्वरित निस्तारण एवं मुकदमों का भार कम करने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया जाता है। बैठक में समिति के सदस्य अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट नरेन्द्र वर्मा, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक बचन सिंह मीणा एवं सदस्य सचिव सहायक निदेशक अभियोजन अजय कुमार श्रीवास्तव उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...