पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ये राशन के लिए नहीं, तंबाकू खरीद की लाइन है:कोरोना में जमकर उड़ाई जा रही है गाइडलाइन की धज्जियां, दो दिन बाद की सख्ती से पहले के इंतजाम की कवायद

धौलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सैंपऊ में तंबाकू की दुकान के बाहर जैसे राशन की कतार लगी हो। लॉकडाउन की सख्ती के दौरान का पूरा इंतजाम करने की कवायद। - Dainik Bhaskar
सैंपऊ में तंबाकू की दुकान के बाहर जैसे राशन की कतार लगी हो। लॉकडाउन की सख्ती के दौरान का पूरा इंतजाम करने की कवायद।

सैंपऊ के बाजार में तीन दिन बाद की सख्ती से पहले की कवायद का नजारा कुछ अलग अंदाज में दिखा।प्रशासन को इस बात का अंदाज था कि लोग सड़क पर निकलेंगे। राशन यानी किराना का सामान खरीदने दुकानों पर भीड़ लग सकती है। उन पर नजर रखनी है, लेकिन इस बात का अंदाजा तो किसी ने नहीं लगाया था कि जो जितने लोग राशन लेने निकलेंगे, उससे ज्यादा तो तंबाकू, गुटखा लेने निकल सकते हैं।

ऐसा ही नजारा सैंपऊ के बाजार में शुक्रवार को दिखाई दिया। न सोशल डिस्टेंसिंग थी और न किसी प्रकार की गाइडलाइन की पालना। बस तंबाकू-गुटखा मिल जाए। दुकान बंद होने से पहले की कवायद में कई बार की धक्का-मुक्की भी कोरोना को आमंत्रित करती रही।

आपाधापी की भीड़, पुलिस की नजरें भी चूकी

एक लंबी कतार और आपाधापी। यह भीड़ तंबाकू वाले की दुकान के बाहर थी। दुकान के दोनों हिस्सों पर भीड़ कोरोना के फैलाव को आमंत्रित कर रही थी। न पुलिस थी न कोई नियम-कायदे। सब ताक पर रख दिए गए थे। मास्क से कोरोना से बचने की झूठ इन्हें कोरोना से बचा सकती है, यही सोच कर वे सोशल डिस्टेंसिंग भूल चुके थे। शराब की तरह तंबाकू की लत वाले ये लोग, संक्रमण फैलाने के दोषी साबित हो सकते हैं।

रिपोर्ट एवं फोटो : जितेंद्र सिंह परमार

खबरें और भी हैं...