• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • Dholpur
  • Had Given Up Eating And Drinking After Death, The Family Raised Questions On The Encounter Of The UP Police, The Miscreant Was Absconding In Many Cases, Was Killed In An Encounter With The UP Police

गैंगस्टर ठाकुर के एनकाउंटर से दुखी पिता ने तोड़ा दम:बेटे की मौत के बाद खाना-पीना छोड़ दिया था, परिवार ने एनकाउंटर पर उठाए थे सवाल, कई मामलों में फरार था बदमाश

धौलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिता व गैंगस्टर मुकेश ठाकुर (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पिता व गैंगस्टर मुकेश ठाकुर (फाइल फोटो)

आगरा पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए बदमाश मुकेश ठाकुर के पिता की सोमवार सुबह मौत हो गई। ठाकुर की मौत के बाद से पिता सदमे में थे। परिवार ने एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए सीबीआई जांच की मांग की थी। बेटे के गम में पिता की मौत के बाद गांव में शोक छाया हुआ है।

राजस्थान के धौलपुर का रहने वाला गैंगस्टर मुकेश तीनों राज्यों में 38 आपराधिक मामले में फरार चल रहा था। दो हत्या सहित कई बड़े गुनाह कर चुका था। यूपी की आगरा पुलिस ने ठाकुर का एनकाउंटर किया था। हथियार बरामदगी के लिए ले जाते समय मुकेश ठाकुर कॉन्स्टेबल से पिस्टल छीनकर भागने लगा। इस दौरान पुलिस की गोली लगने से उसकी मौत हो गई।

बेटे की मौत के बाद खाना-पीना छोड़ा
मुकेश ठाकुर के भाई सुरेश ने बताया कि आगरा पुलिस के फर्जी एनकाउंटर में उसके भाई की मौत हो गई। मौत की खबर सुनते ही पिता की तबीयत खराब हो गई। उन्होंने खाना-पीना छोड़ दिया। वह किडनी की समस्या से भी जूझ रहे थे। एक किडनी खराब थी, जिसका इलाज गुजरात में चल रहा था। सेहत में सुधार भी हो रहा था। इसी बीच मुकेश के एनकाउंटर की खबर मिलते ही खाना-पीना बंद कर दिया। उनकी मौत हो गई। बेटे का गम और बीमारी से उनकी जान चली गई। पिता विधाराम की मौत के लिए भी सुरेश ठाकुर ने यूपी पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है।

परिजनों ने उठाए थे एनकाउंटर पर सवाल
मुकेश ठाकुर के एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए परिवार ने यूपी पुलिस पर आरोप लगाया था। मुकेश ठाकुर के परिजनों ने बताया था कि बच्ची के जन्म लेने के बाद मुकेश ठाकुर अपराध छोड़कर पुलिस को सरेंडर करना चाह रहा था। परिवार ने आरोप लगाया कि यूपी पुलिस को मुकेश के सरेंडर होने की भनक लग गई थी। इसके बाद राजस्थान में बैठे मुखबिरों की मदद से मुकेश को जहर खिलाकर हत्या कर दी। उसके सीने में एक गोली मारकर उसे एनकाउंटर दिखा दिया। 2 दिन तक शव ना दिए जाने के बाद परिजनों ने पुलिस के एनकाउंटर पर सवाल उठाने शुरू कर दिए थे।

खबरें और भी हैं...