एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण शिविर:जायसवाल ने कहा - मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में लाभार्थियों को जोड़े

धौलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण शिविर में कलेक्टर ने अिधकारियों को दिए दिशा- निर्देश

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के समुचित क्रियान्वयन, व्यापक प्रचार प्रसार, परिवेदना निस्तारण एवं लाभार्थियों को योजना संबंधित जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल के निर्देशन में एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन स्वास्थ्य भवन पर आयोजित हुआ। इस दौरान प्रशिक्षणार्थियों को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से संबंधित जानकारी दी गई।

इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.गोपाल प्रसाद गोयल ने योजना की जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में लाभार्थियों का आंकड़ा बढ़ाया जाए। योजना से सम्बद्ध सरकारी चिकित्सा संस्थानों के प्रभारी अधिकारी इसके लिए विशेष प्रयास करें। यह राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है इस योजना में निशुल्क इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा किया जा रहा है।

जिसके अंतर्गत परिवार को पॉलिसी वर्ष में अस्पताल में भर्ती होने पर सामान्य बीमारियों के लिए 50 हजार और गंभीर बीमारियों के लिए 4 लाख 50 हजार रुपये का निशुल्क इलाज देय है। विभिन्न बीमारियों के लिए 1579 पैकेज उपलब्ध हैं। पैकेज में मरीज के अस्पताल में भर्ती होने से 5 दिन पहले एवं डिस्चार्ज के 15 दिन बाद तक उस बीमारी से संबधित उस अस्पताल में की गयी जांचों, दवाइयों एवं डॉक्टर की फीस का खर्च भी शामिल है।

उन्होंने इस योजना से वंचित लोगों का सर्वे करवा कर उन्हें इस योजना से जोड़ने के निर्देश दिए। इस दौरान उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. चेतराम मीणा ने बताया की मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में लाभार्थी को प्रीमियम राशि के रूप में मात्रा 850 रुपए ही देने होंगे।

इस योजना का लाभ राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा एवं सामाजिक आर्थिक जनगणना-2011 के दायरे में आने गरीब परिवारों के साथ-साथ लघु एवं सीमांत किसान तथा संविदा कर्मियों के परिवारों को यह स्वास्थ्य बीमा सरकार बिना किसी प्रीमियम के उपलब्ध करवाएगी तथा वे अन्य परिवार जो राज्य या केन्द्र सरकार द्वारा मेडिक्लेम, मेडिकल अटेंडेंस नियमों के अन्तर्गत लाभ नहीं ले रहे है, प्रीमियम का 50 प्रतिशत भुगतान कर योजना का लाभ उठा सकते है। अन्य परिवार मात्रा 850 रुपए में बीमा का लाभ ले सकेंगे।

योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए, आवेदन करने, प्रीमियम जमा करने तथा प्रिटिंग के लिए ई-मित्र को कोई शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी। यह शुल्क राज्य सरकार वहन करेगी। इस दौरान जिला कार्यक्रम प्रबन्धक शशांक वशिष्ठ ने कहा कि इस योजना का व्यापक प्रचार प्रसार करें जिससे अधिक से अधिक लाभार्थी इस योजना से लाभान्वित हो सके।

चिकित्सा संस्थानों में इस योजना से संबंधित आईईसी चस्पा करवाना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने पीपीटी के माध्यम से योजना से जुड़े मुख्य बिंदुओं के बारे में भी बताया। प्रशिक्षण के दौरान जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शिव कुमार शर्मा, शहरी कार्यक्रम प्रबन्धक प्रियंका त्रिपाठी सहित समस्त खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, खण्ड कार्यक्रम प्रबन्धक तथा ब्लॉक हेल्थ सुपरवाइजर मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...