गुणवत्तापूर्ण शोधकार्यों के प्रकाशन संबंधी यूजीसी लिस्टेड:साइटेशन, इंडेक्सिंग से जुड़े तथ्यों से अवगत कराया, एलएमएस सहित विभिन्न बिन्दुओं पर प्रशिक्षण आयोजित

धौलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजकीय महाविद्यालय, धौलपुर में आईक्यूएसी के तत्वावधान में महाविद्यालय सह/सहायक आचार्यों हेतु डिजिटेक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस प्रशिक्षण में मुख्य वक्ता डाॅ पुरूषोत्तम लाल सहायक आचार्य वनस्पति शास्त्र ने संकाय सदस्यों को उनके शोधकार्यों, विद्यार्थी शिक्षण के लिए प्रयुक्त डिजिटल संसाधनों व अन्य कम्प्यूटर अनुप्रयोगों से जुड़े टूल्स की उपयोगिता बढ़ाने हेतु जानकारियां दीं।

उन्होंने जीओ टैगिंग फोटोग्राफी, एम.एस. वर्ड, पीडीएफ, पीपीटी, यूट्यूब चैनल्स, गूगल ड्राइव, गूगल फाॅर्म इत्यादि की सहायता से व्याख्यान बनाने हेतु अद्यतन तकनीकों से अवगत कराया। उन्होंने इनफ्लिबनेट का प्रयोग सूचना एवं पुस्तकालय ज्ञान के लिए करने पर योजना बताई। एनलिस्ट द्वारा संकाय सदस्यों एवं विद्यार्थियों को विभिन्न पुस्तकें शोध पत्रिकाएं व अध्यायों के उपयोग करने संबंधी जानकारी दी।

गुणवत्तापूर्ण शोधकार्यों के प्रकाशन सम्बन्धित यूजीसी लिस्टेड जरनल्र्स, साइटेशन, इंडेक्सींग, इंपेक्ट फेक्टर इत्यादि से जुड़े तथ्यों से अवगत कराया। आयुक्तालय काॅलेज शिक्षा, राजस्थान द्वारा तैयार किए गए एलएमएस साॅफ्टवेयर के बारे में बताया कि महाविद्यालय संकाय सदस्यों द्वारा तैयार किए जाने वाले ई-कंटेंट्स अब इस साॅफ्टवेयर पर कक्षावार शीघ्र उपलब्ध रहेंगे।

विद्यार्थी इस साॅफ्टवेयर को गूगल प्ले स्टोर से अपने मोबाइल, कम्प्यूटर में डाउनलोड कर अध्ययन हेतु उपयोग कर पाएंगे। प्राचार्य डाॅ. सुरेन्द्र कुमार जैन ने संकाय सदस्यों को वर्तमान तथा भावी परिदृश्याें के मद्देनजर तकनीकी संसाधनों के अधिकाधिक प्रयोग द्वारा विद्यार्थी को लाभान्वित करने के लिए प्रेरित किया। आईक्यूएसी प्रभारी डाॅ. रचना मेहता सह आचार्य इतिहास ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

खबरें और भी हैं...