पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

स्वास्थ्य:ऑनलाइन पढ़ाई से अब बच्चों में बढ़ रही ड्राई आइज की समस्या, डॉक्टर बोले- आंखों में पानी के छींटे न मारें, हो सकता है नुकसान

धौलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बच्चे लॅपटॉप और मोबाइल पर कर रहे स्कूल का काम, रोजाना चार से पांच घंटे का समय बिता रहे

जब से लाॅकडाउन के कारण स्कूल-काॅलेज बंद हुए हैं, बच्चाें का ज्यादातर काम लैपटाॅप, माेबाइल और आईपैड पर हाे रहा है। आम दिनाें में आधा या एक घंटे माेबाइल चलाने वाले बच्चे आजकल राेजाना 4 से 5 घंटे माेबाइल के साथ बिता रहे हैं। इसके चलते पेरेंट्स काे दो तरह की चिंता परेशान किए हुए है। इसमें पहली तो यह कि यदि वे बच्चों को मोबाइल, लैपटॉप का उपयोग बंद करने के लिए कहेंगे तो उसका असर उनकी पढ़ाई पर पड़ेगा।

दूसरी यह कि यदि वे उन्हें इन गैजेट्स के उपयोग से नहीं रोकेंगे तो उन्हें आंखों संबंधी समस्या हो सकती है। इसी बात को लेकर वे परेशान है। उनकी यह परेशानी जायज भी है, क्योंकि इन दिनों मेरे पास प्रतिदिन 15 से 20 बच्चों को लेकर उनके पेरेंट्स आ रहे हैं। बच्चों की आंखों को चैक करने पर यह देखने को मिल रहा है कि उनकी आंखों में ड्राइनेस यानि सूखापन बढ़ रहा है। यह कहना है जिला चिकित्सालय में पदस्थ नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. अरुण शर्मा का।

डॉ. शर्मा का कहना है कि पेरेंट्स चिंता न करें। स्क्रीन पर ज्यादा समय व्यतीत करते समय बच्चों से कुछ सावधानियां बरतने को कहें। उन्होंने बताया कि ड्राई आईज से बचाव के लिए आंखाें की लगातार देखभाल करें। स्क्रीन पर काम करते हुए समय-समय पर पलकों को झपकाएं। उन्होंने बताया कि दरअसल लैपटाॅप, आईपैड व माेबाइल पर काम करते हुए हम लगातार स्क्रीन देखते हैं। इसके कारण आंखाें की टियर फिल्म ब्रेक हाे जाती है।

इसलिए जब बार-बार पलकें झपकाएंगे ताे ये ठीक हाे जाएंगी। ड्राई आई से बचने के लिए 20-20 का नियम भी है। इसके तहत 20 मिनट तक काम करने के बाद 20 सेकंड्स के लिए आंखें बंद करें। इसके अलावा ल्यूब्रिकेंट आई ड्राॅप भी डाल सकते हैं। इससे भी आराम मिलेगा। इधर भरतपुर में बाल कल्याण समिति ने ऑनलाइन क्लासेज पर रोक लगाने की जिला कलेक्टर से मांग की है।

काम करते समय बार-बार झपकाते रहें पलकें, ड्रॉप भी डालें

जिला अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डाॅ. शर्मा ने कहा कि जब हम लैपटाॅप, कंप्यूटर, माेबाइल पर ज्यादा देर तक काम करते हैं ताे ड्राई आई की समस्या होने लगती है। इससे बचाव के लिए स्क्रीन की अाेर लगातार न देखें, पलके झपकाते रहें। जिस रूम में काम कर रहे हैं, वहां एसी न चलाएं। क्योंकि एसी कमरे में से नमी खींच लेता है। अगर आंखाें में जलन हाे रही है ताे दिन में तीन-चार बार डॉक्टर की सलाह लेकर बताया गया आई ड्राॅप डालें। कई बार बच्चों की आंखों में काम करने के दौरान जलन होने लगती है, इसके चलते वह अपनी आंखों को मसलने लगता है। यदि बच्चा ऐसा कर रहा है तो उसे एेसा न करनें दें। ऐसा करने से इंफेक्शन हाे सकता है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें