पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैंथरी पंचायत का फैसला:पहले इन्होंने न मास्क लगाया था और न दूरी रखी थी बतौर सजा दूसरों को करा रहे गाइडलाइन का पालन

धौलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धौलपुर. बैरियर में दो दिन की ड्यूटी देते युवक। - Dainik Bhaskar
धौलपुर. बैरियर में दो दिन की ड्यूटी देते युवक।

कोरोना संक्रमण से ग्रामीणों को बचाने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर भी काफी प्रयास किए जा रहे हैं। इन्हीं प्रयासों के बीच कैथरी ग्राम पंचायत के सरपंच अजयकांत शर्मा ने एक अनोखी पहल की है। जिसमें कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले युवाओं पर किसी तरह का जुर्माना नहीं लगाया जाता है, बल्कि उनसे जुर्माने के तौर पर दो दिन तक ड्यूटी ली जा रही है।

गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले युवाओं को ड्यूटी में गांवों के रास्तों में लगाए गए बैरियर के पास दो दिन तक खड़े होकर गांव के बाहर आने-जाने वाले ग्रामीणों से समझाइश करके उन्हें वापस लौटाने की जिम्मेदारी सौंपी जा रही है।

कैथरी सरपंच अजयकांत शर्मा ने बताया कि कैथरी ग्राम पंचायत में पूर्व में करीब 11 ग्रामीण कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे। जिसके बाद से ही ग्राम पंचायत में कोरोना संक्रमण से ग्रामीणों को बचाने के लिए प्रयास शुरू किए गए। जिसका परिणाम रहा कि संक्रमित हुए 11 ग्रामीणों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर वे ठीक हो गए। फिलहाल गांव में एक भी संक्रमित मरीज नहीं है।

सखवारा सरपंच ने खर्चे से ग्रामीणों को बांटे मास्क
सखवारा के सरपंच मुकेश रावत ने खुद के खर्चे से ग्राम पंचायत के ग्रामीणों को मास्क का वितरण किया है। सरपंच मुकेश रावत ने बताया कि कोरोना संक्रमण से ग्रामीणों को बचाने के लिए उन्हें जागरूक करने के साथ मास्क वितरित करके सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताया गया है। उन्होंने कहा कि सभी प्रकार के समारोह को स्थगित करने के लिए ग्रामीणों को जागरूक किया गया है।

खबरें और भी हैं...