कोरोनावायरस / खाली पड़े हैं क्वारैंटाइन सेंटर, फिर भी 24 घंटे डयूटी दे रहे शिक्षक

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

धौलपुर. वैश्विक महामारी कोरोना में पिछले दो माह से साइलेंट वॉरियर के रूप में शिक्षक भी कोविड 19 कर्मवीर योद्दा के रूप में ड्यूटी कर रहे हैं। फिर चाहे निगरानी दल के रूप में घर घर सर्वे हो, नियंत्रण कक्षों की जिम्मेदारी, राशन वितरण, क्वॉरेंटाइन व वैलनेस सेंटर्स हों या जिले की सीमाओं पर प्रशासन की ओर से बनाए नाकों पर ड्यूटी करनी हो। वर्तमान में स्थिति यह है कि जिला प्रशासन की ओर से  जिले के स्कूलों व अन्य महत्वपूर्ण शिक्षण संस्थानों में बनाए गए क्वॉरेंटाइन व वैलनेस सेंटर्स पर कोई भी बाहरी मजदूर, संदिग्ध व्यक्ति व मरीज को नहीं रखा जा रहा है। ये लंबे समय से खाली पड़े हैं। अधिकतर में तो शुरुआत से कोई भी व्यक्ति मरीज रुका ही नहीं है। बावजूद इसके प्रत्येक सेंटर्स 24 घंटे शिफ्ट वार शिक्षकों की ड्यूटी उपखंड अधिकारी व पंचायत प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों की ओर से लगाई गई है। कलेक्टर के रोटेशन के आदेशों के बावजूद ड्यूटियां नहीं बदली गईं हैं। अनेक शिक्षक कर्मचारी दो माह से इन सेंटर्स पर ड्यूटी आ दे रहे हैं । जबकि 90 फीसदी स्कूलों में कोई भी मरीज नहीं रुक रहा है। खाली पड़े क्वॉरेंटाइन केंद्रों पर बिना जरूरत शिक्षक दिन रात शिफ्ट वार ड्यूटी कर रहे हैं। कासिमपुर, ओदी आदि सेंटर्स पर सम्बंधित पीईईओ ने रात्रि 8  बजे तक महिला शिक्षिकाओं को भी ड्यूटी करने पर तैनात कर रखा है। जबकि शिक्षामंत्री एवं निदेशक की ओर से रात्रि में महिलाओं की ड्यूटी लगाने पर रोक लगा रखी है। यही नहीं
हाल ही में राज्य सरकार की नई एडवाइजरी के तहत बाहरी मजदूर एवं संदिग्ध मरीज को होम आइसोलेशन या जिला मुख्यालय पर चिकित्सा केंद्र पर रखकर उनका उपचार कर घर भेजा जा रहा है। बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को भी 28 दिन के लिए घर में ही होम आइसोलेशन पर रहने के निर्देश दिए गए हैं। ऐसे में स्कूलों में बनाये गये क्वॉरेंटाइन व वैलनेस सेंटर्स की जरूरत ही नहीं रह गई है। यहां संदिग्ध और मरीज को रखा ही नहीं जा रहा। खाली पड़े क्वॉरेंटाइन केंद्रों पर तैनात शिक्षकों की ड्यूटी को निरस्त कर इन्हें ग्रीष्मावकाश का लाभ दिया जाना चाहिए। धाैलपुर पाॅलिटेक्निक काॅलेत मंे बने क्वॉरेंटाइन केंद्र पर 31 मार्च से लगातार 8 घंटे तक ड्यूटी कर रहे मनीष कुमार ने बताया कि केंद्र और अब तक कोई मरीज नहीं ठहरा है। दो महीने बाद भी ड्यूटी अभी तक रिप्लेस नहीं की गई है।
शहर में यहां बने हैं क्वारेंटाइन सेंटर
शहर में दस जगह क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं, जिसमें पॉलिटेक्निक कॉलेज औडेला रोड और मचकुंड रोड आईटीआई स्थित क्वॉरेंटाइन केंद्रों पर भी आज तक कोई नहीं ठहरा है। इसके अलावा शारदे स्कूल, कस्तूरबा गांधी विधालय, दून स्कूल, नवाेदय स्कूल सहित चार मेरिज हाेम में क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं, जहां चाैबीस घंटे शिक्षकाें की डयूटी तैनाती की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना