पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्कूली टूर्नामेंट्स में बेटियां भी खेलेंगी क्रिकेट, कुश्ती और फुटबॉल:राज्य सरकार ने स्कूली खेल प्रतियोगिता में शामिल किए 23 नए खेल, लड़कियों को सरकारी नौकरी में भी फायदा मिलेगा

धौलपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

स्कूली टूर्नामेंट्स में शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। अब राज्य सरकार की स्वीकृति के बाद शिक्षा विभाग ने स्कूली खेलकूद के दायरे में बढ़ोतरी की है। स्कूली खेलकूद में आयु वर्ग 17 और 19 वर्ग में पूर्व में स्वीकृत 18 खेलों के अलावा 20 नए खेल शामिल कर लिए गए हैं। फुटबॉल, क्रिकेट और कुश्ती मिलकर 23 नए गेम हैं और इनमें जिले भर की छात्राएं भी शामिल हो सकेंगी।

ख़ास बात यह है कि इससे पहले स्कूल खेलकूद प्रतियोगिताओं में अब तक फुटबॉल, क्रिकेट, कुश्ती केवल छात्र वर्ग के लिए ही उपलब्ध थे। लेकिन राज्य सरकार की स्वीकृति के बाद अब इन तीनों खेलों में सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली छात्राएं भी शामिल हो सकेंगी।

यानि पंजाब, हरियाणा, यूपी, कर्नाटक, बिहार, महाराष्ट्र, झारखंड व दिल्ली की तर्ज पर अब राजस्थान में भी स्कूली स्तर पर छात्राएं भी फुटबॉल, क्रिकेट, कुश्ती प्रतियोगिता में भी भाग ले सकेंगी। अब स्कूलों में कुश्ती प्रतियोगिता होने से लड़कियों को सरकारी नौकरियों में भी फायदा मिलेगा।

प्रदेश में स्कूली स्तर पर लड़कों की कुश्ती प्रतियोगिता 65 साल पहले शुरू हो चुकी है। बता दें कि पिछले वर्ष माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने 20 खेलों को स्कूली खेलकूद में शामिल करने के प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाए थे। राज्य सरकार ने इन प्रस्तावों को मंजूरी दी है। अब स्कूलों में स्टूडेंट्स 38 खेलों में पार्टिसिपेट कर सकेंगे।

स्कूली प्रतियोगिता में पहले से 18 खेल शामिल थे
स्कूली प्रतियोगिताओं में पहले से 18 खेल शामिल थे। जिनमें जिम्नास्टिक, हैंडबाल, हाॅकी, जूडो, साफ्टबाल, तैराकी, वालीबाल, बैडमिंटन, बास्केटबाल, खो-खो, लोन टेनिस, टेबल टेनिस, कबड्डी, एथलेटिक्स, तीरंदाजी शामिल हैं। जिनमें छात्र और छात्राएं भाग ले सकते हैं। वहीं फुटबाल, कुश्ती और क्रिकेट केवल छात्र वर्ग के प्रतियोगिता के लिए खेले जाते रहे हैं।

अब यह 23 खेल होंगे : फुटबॉल, क्रिकेट, कुश्ती, टेनिस क्रिकेट, साइकिलिंग, टाईक्वांडो, बॉल बैडमिंटन, बॉक्सिंग, स्पीड बॉल, शतरंज, नेटबॉल, थ्रो बॉल, रोल बॉल, कूडो, टेनिस वॉलीबॉल, कराटे, आस्थे अखाड़ा, वुशु, मल्लखम्ब, सेपक टकरा, टग ऑफ़ वॉर, सतोलिया, सुपर सेवन क्रिकेट।

छात्राओं का बेस और मजबूत होगा : शर्मा
^बेटियां लगातार आगे बढ़ रही हैं। लेकिन स्कूली खेलों में कुश्ती, फुटबॉल और क्रिकेट प्रतियोगिताओं में भाग लेने से वंचित थी। अब शिक्षा निदेशालय ने कुश्ती, फुटबॉल और क्रिकेट खेल में छात्राओं को एंट्री दी है। इससे छात्राओं का बेस और अधिक मजबूत होगा। साथ ही सरकारी नौकरी में भी इसका फायदा मिलेगा
-उपेंद्र शर्मा, जिलाध्यक्ष, धौलपुर ओलंपिक एसोसिएशन

23 नए खेल जुड़ने से लाभ मिलेगा : डीईओ
माध्यमिक शिक्षा निदेशालय की तरफ से जारी कर 23 खेलों को स्कूली पंचांग में शामिल किया है। पंचांग में नए खेल जुड़ने से खिलाड़ियों को लाभ मिलेगा।
-अरविंद शर्मा, डीईओ, धौलपुर

खबरें और भी हैं...