पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अव्यवस्था:इंदिरा गांधी स्टेडियम में रहता है पशुओं का जमावड़ा, सार-संभाल के अभाव में घास भी सूखी

धौलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्टेडियम में चारों ओर गंदगी के कारण खिलाड़ियों को प्रेक्टिस करने में आती है परेशानी
  • खुद ही मशक्कत कर भगाने पड़ते हैं आवारा पशु

शहर का एक मात्र खेल ग्राउंड, जहां शहर भर के खेलाें के खिलाडी अभ्यास के लिए सुबह शाम आते हैं, लेकिन ज्यादातर दिन भर इंदिरा गांधी स्टेडियम में आवारा जानवराें का विचरण हाेने से ग्राउंड में गंदगी पसरी रहती है। अगर आप इंदिरा गांधी स्टेडियम में देखेंगे ताे आपकाे एक बारगी ताे ऐसा लगेगा कि ये ग्राउंड कम गधाें का बाडा सा लगने लगा है।

मुख्य गेट पर भी खुला रहने से दिनभर आवारा गाय, सांड, गधाें का लाेट मारते हुए देखा जाता है। इंदिरा गांधी स्टेडियम में सार संभाल के अभाव में किसी समय लगाई घास भी पहले सूख गई और अब एक बडा हिस्सा से घास गायब हाेकर धूलभरा कंकरीट युक्त ग्राउंड बन गया है। जबकि ग्राउंड में घास उगाई गई थी, लेकिन नगरपरिषद की ओर से इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं देने से अब खेल ग्राउंड की दुगर्ति हाेती साफ देखी जा सकती है।

अब ऐसे में प्रश्न खडा हाेता है कि एक ओर केंद्र व राज्य सरकार खेलाें काे लेकर खिलाडियाें काे सुविधाएं देने के साथ साथ जागरुक है। खिलाडियाें काे अच्छी सुविधाएं उन्हें बेहतर प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है, लेकिन धाैलपुर में ग्राउंड की दशा काे देखकर ऐसा लगता है कि खेल ग्राउंड की बदहाली से ये सब बेकार ही दिखता है। जबकि शहर के बीचाें बीच खिलाडियाें के लिए उपयुक्त ये खेल ग्राउंड नगरपरिषद संभालती है और इसकी रख रखाव व सार संभाल नहीं करने से यहां व्यवस्थाएं बिखर गई हैं।

खिलाडियाें काे खेलने में चर रहे गधाें के झुंड, गाय, सुअर परेशानी करते हैं और ग्राउंड भी खराब हाे रहा है। बडी फील्ड में क्रिकेट, हाॅकी, फुटबाॅल इत्यादि खेलाें के खिलाडी आते हैं। अब इन जानवराें द्वारा फैलाई गई गंदगी की भीसफाई भी न हाेने से ग्राउंड ऐसे बन गया है कि खिलाडियाें काे उनके अभ्यास में भी परेशानी हाेती है।अधिकतर समय ताे खिलाडी खेल के वक्त इन गधाें गायाें भगाते रहते हैं।

नगरपरिषद ने बडी फील्ड में सार संभाल और समय पर गेट काे बंद करने के अलावा सुरक्षा के लिए चाैकीदार लगाया हुआ था, लेकिन नगरपरिषद ने अब छह सात महीनाें से 24 घंटे के लिए तैनात चाैकीदाराें काे हटाने के बाद से स्टेडियम की और स्थिति खराब हाेती चली आई है।

अब दिन में ताे गेट खुला रहने से आवारा जानवराें का विचरण ताे देर रात तक असमाजिक तत्वाें के लाेगाें की अब बैठान भी स्टेडियम में हाे गई है, जब सुबह खिलाडी आते हैं ताे उन्हें शराब बीयर की बाेतल के साथ उनके द्वारा फैलाई गंदगी दिखती है। रात काे ताे कई बार लाेग रात में गाडी सीखने भी खेल ग्राउंड पहुंच जाते हैं और ग्राउंड में गाडी चलाने से घास काे नष्ट कर दिया गया है। अब ऐसी स्थिति में खेल खिलाडियाें काे प्राेत्साहन कैसे मिले।

नगरपरिषद इस समय काेराेना काल में लाेगाें काे जागरुक करने के उद्देश्य से मास्क वितरण, पेंफ्लेट जागरुक पाेस्टर स्टीकर का वितरण करा रही है। इससे पहले इंदिरा गांधी स्टेडियम में पेड पाैधे लगाने की प्लांनिंग साथ ही साैंदयर्करण का काम भी कराना था, लेकिन अब इसे आचार संहिता के बाद हम स्टेडियम में ये काम शुरू कराने जा रहे हैं। शहर के इस स्टेडियम की सार संभाल के लिए ग्राउंड में पानी का छिडकाव और जल्द ही चाैकीदार की व्यवस्था की जाएगी।
साैरभ जिंदल, आयुक्त

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser