धर्म / इस बार 148 दिन का रहेगा चातुर्मास

X

दैनिक भास्कर

Jun 30, 2020, 08:29 AM IST

धौलपुर. जप-तप और साधना-सिद्धि का पवित्र चातुर्मास 1 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है। भगवान श्रीहरि विष्णु के योगनिद्रा में चले जाने के कारण चातुर्मास में मांगलिक कार्यों पर प्रतिबंध लग जाता है। इस बार चातुर्मास में अधिकमास होने से चातुर्मास की अवधि बढ़कर 148 दिन हो गई है। इस वर्ष आश्विन माह का अधिकमास है। चातुर्मास 1 जुलाई देवशयनी एकादशी से प्रारंभ होकर 25 नवंबर देवोत्थान एकादशी तक रहेगा।

ज्योतिषाचार्य पंडित राम शर्मा ने बताया कि इस दौरान एक ओर जहां विवाह आदि मांगलिक कार्य बंद हो जाते हैं, वहीं तीज-त्योहारों का उल्लास भी छाएगा। ज्योतिषाचार्य शर्मा ने बताया कि अधिकमास के कारण आश्विन मास से लेकर आगे के महीनों में आने वाले तीज-त्योहार भी 10 से 15 दिन तक आगे बढ़ जाएंगे। देवशयनी एकादशी का व्रत आप 1 जुलाई को रख सकते हैं। अगर व्रत न रखें तो सुबह पूजा करने के बाद ब्राह्मण को दक्षिणा दें।

शर्मा के अनुसार आषाढ़ शुक्ल एकादशी से कार्तिक शुक्ल एकादशी तक चार माह का समय चातुर्मास कहलाता है। यही समय वर्षाकाल का भी होता है। इसलिए इन चार माह में खानपान से लेकर समस्त प्रकार के संयम रखना होते हैं, ताकि शरीर को किसी भी प्रकार के रोग ना घेर लें। ये चार माह धर्म, कर्म, व्रत-उपवास, ईश्वर का ध्यान, साधना, मंत्र जप और दान धर्म के लिए अत्यंत पवित्र होते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना