कुमार विश्वास की आवाज में सुनेंगे मचकुंड की गाथा:चार करोड़ की लागत से लाइट एंड साउंड शो का ट्रायल शुरू,दीवारों पर लाइटिंग कर मंदिरों और प्रसिद्ध स्थलों को दिखाया

धौलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तीर्थराज मचकुंड की दीवार पर लाइटिंग कर चित्र के माध्यम से धौलपुर के प्रसिद्ध स्थल दिखाते हुए। - Dainik Bhaskar
तीर्थराज मचकुंड की दीवार पर लाइटिंग कर चित्र के माध्यम से धौलपुर के प्रसिद्ध स्थल दिखाते हुए।

प्रधानमंत्री स्वदेश दर्शन योजना में कोरोना के कारण लंबे समय से अटके तीर्थराज मचकुंड लाइट एंड साउंड शो का ट्रायल शुरू हो गया है। कवि कुमार विश्वास की आवाज में साउंड तैयार किया गया है। जिसमें तीर्थराज मचकुंड की गाथा के साथ ही शेर शिकार गुरुद्वारा और अब्दाल साहब बाबा के इतिहास को सुनाया जाएगा। ट्रायल शो में बुधवार रात दीवारों पर लाइटिंग कर मचकुंड के मंदिरों और धौलपुर के प्रसिद्ध स्थलों को चित्रों के माध्यम से दिखाया गया।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शुरुआत
तीर्थराज मचकुंड पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लाइट एंड साउंड शो का काम दिल्ली कंपनी की ओर से करवाया जा रहा है। कंपनी के टेक्निकल हेड दीपक सिंह ने बताया कि योजना काफी समय पहले तैयार की गई थी लेकिन कोरोना की वजह से काम अटक गया था। जिसके लिए करीब चार करोड़ का बजट आवंटित किया गया है। उन्होंने बताया कि फिलहाल आधे घंटे का शो तैयार किया गया है जिसमें लाइटिंग के जरिए ऐतिहासिक दीवारों पर चित्र प्रदर्शित किए जाएंगे। कवि कुमार विश्वास की आवाज में ऐतिहासिक गाथा सुनाई जाएगी। उन्होंने बताया कि अगले 20 दिनों में लाइट एंड साउंड शो को पूरी तरह से शुरू कर दिया जाएगा। रात के समय यह थियेटर की तरह नजर आएगा।

कृष्ण को मचकुंड पर ही मिला था रणछोड़ का नाम
राक्षस कालयवन का वध करने के बाद भगवान श्री कृष्ण को तीर्थराज मचकुंड पर ही रणछोड़ का नाम मिला। सभी तीर्थों का भांजा कहे जाने की वजह से चारों धाम की यात्रा करने के बाद श्रद्धालु तीर्थराज मचकुंड में स्नान करने के लिए पहुंचते हैं। श्री कृष्ण की तपोभूमि के चलते पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इसे प्रधानमंत्री स्वदेश दर्शन योजना में शामिल किया गया है।

खबरें और भी हैं...