पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाड़ी क्षेत्र के सिंगोरई गांव की घटना:मंदिर में झंडा लगाते समय डंडा बिजली लाइन से छुआ, करंट से एक की मौत, कई जने झुलसे

बाड़ी18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद घायलों को लेकर जाते परिजन। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद घायलों को लेकर जाते परिजन।
  • भूमिया बाबा के मंदिर में हो रहा था धार्मिक कार्यक्रम
  • मृतक युवक का शव बिना पोस्टमार्टम कराए ही गांव ले गए ग्रामीण

सिंगोरई गांव में सोमवार को सुबह एक धार्मिक कार्यक्रम के दौरान झंडा चढ़ाते वक्त हादसा हो गया जिसमें गांव के कई युवक करंट का शिकार हो गए। इस हादसे में एक युवक की मौत भी हो गई। ग्रामीण मृतक शव को बिना पोस्टमार्टम कराए ही गांव ले गए।

सिंगोरई गांव में भूमिया बाबा के मंदिर पर गांव के लोगों द्वारा सामूहिक रूप से धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था। जिसमें गांव के कुछ युवा सोरों जी से कांवड़ में गंगाजल लेकर आए थे। सोमवार को धार्मिक आयोजन के दौरान गंगाजल चढ़ाया और भूमिया बाबा के मंदिर पर झंडा चढ़ाने लगे। जब युवक उसे मंदिर में लगा रहे थे तो झंडे का डंडा वहां से निकल रही 11केवी की बिजली लाइन के संपर्क में आ गया। करंट लगने से कई युवक झुलस गए। गांव का ही गुड्डू पुत्र मंगल सिंह मीणा की मौत हो गई।

बुजुर्ग श्रीकृष्ण मीणा ने बताया कि सोमवार को पूरे गांव की तरफ से भूमिया बाबा पर पुण्य का काम कराया जा रहा था जिसमें सोरोजी से लाये गंगाजल को चढ़ाने के बाद झंडा खड़े करने के लिए कुछ युवक झंडा लेकर छत पर चढ़े थे। इस दौरान मंदिर में करंट फैल गया। जिसके बाद कोई छत पर तो कोई मंदिर में ही गिर गया। उन्होंने बताया कि यह हादसा मंदिर के पास से निकल रही 11 केवी लाइन से झंडा स्पर्श करने के चलते हुआ।

घटना को लेकर जिम्मेदारों के गैरजिम्मेदाराना बोल...

कोई बड़ा मेला नहीं लग रहा था : थाना अधिकारी

कंचनपुर थाना अधिकारी देवेंद्र शर्मा ने बताया कि वहां पर कोई बड़ा मेला नहीं लग रहा था। छोटा सा ही लोक देवता का कार्यक्रम था। गांव के लोग ही कांवड़ चढ़ा रहे थे। ऐसे में घटना हुई है। जब बीट अधिकारी को लेकर पूछा गया तो सही जानकारी देने से कतराते रहे।

घटना की जानकारी नहीं : वि. अिधकारी

ग्राम विकास अधिकारी पवन शर्मा ने बताया कि मुझे कोई जानकारी नहीं है। मैं तो घर पर हूं जब उनसे पूछा कि आपकी ग्राम पंचायत में करंट लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई है तो उन्होंने कहा कोई जानकारी नहीं है।

तहसीलदार ने दी थी जानकारी : एसडीएम

एसडीएम राधेश्याम मीणा ने कहा कि मेरे पास नायब तहसीलदार का आया था कि सिंगोरई में झंडा लगाने के दौरान हादसा हुआ है। कोई अन्य जानकारी नहीं दी, न ही इस तरह के बड़े कार्यक्रम की जानकारी है।

बड़ा सवाल: गांव में इतना बड़ा आयोजन और किसी को खबर तक नहीं

सिंगोरई गांव में भूमिया बाबा पर आयोजित हो रहा है यह पुण्य का काम एक बड़ा आयोजन था जिसमें झंडा चढ़ाने के अलावा 4 गांव के भोजन की भी व्यवस्था की गई थी। लेकिन हादसा होने के बाद पूरे गांव में शोक छा गया।

विडंबना की बात तो यह है कि उक्त कार्यक्रम को लेकर ना तो पुलिस के बीट अधिकारी को कोई जानकारी थी और ना ही गांव के विकास अधिकारी या बीएलओ को कोई जानकारी थी। हालांकि जिला प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार के सामूहिक धार्मिक या बड़े आयोजनों पर रोक लगा रखी है और स्थानीय अधिकारियों को भी चौकसी रखने के निर्देश हैं। इसके बावजूद यह हादसा हो गया।

खबरें और भी हैं...