शहीद / कोमा में जाने के बाद एक माह 13 दिन मौत से लड़ा जवान पुष्पेन्द्र सिंह शहीद

Soldier Pushpendra Singh martyred from death one month and 13 days after going into coma
X
Soldier Pushpendra Singh martyred from death one month and 13 days after going into coma

  • गमगीन माहौल में नगला मई में सैनिक सम्मान के साथ हुई अंत्येष्टि

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 06:05 AM IST

नदबई. मध्य प्रदेश के अमला एयरबेस में ड्यूटी पर तैनात नगला मई निवासी 33 वर्षीय पुष्पेंद्र सिंह पुत्र सोरन सिंह अचानक कोमा में चला गया। आर्मी अस्पताल में एक महीना 13 दिन जिंदगी और मौत से लड़ते हुए पुष्पेंद्र बुधवार को शहीद हो गया। शुक्रवार को सैनिक सम्मान के साथ पैतृक गांव नगला मई में शहीद पुष्पेंद्र सिंह की अंत्येष्टि की गई। गांव सहित आसपास का क्षेत्र मैं शोक की लहर दौड़ गई।

शहीद पुष्पेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर जैसे ही गांव में आया सैकड़ों की तादाद में लोग वहां पहुंच गए। एयर फोर्स के जवानों द्वारा सलामी दी गई तदुपरांत जयकारों के साथ शहीद पुष्पेंद्र सिंह की अंत्येष्टि की, फुफेरा भाई रणवीर सिंह गडासिया ने बताया पुष्पेंद्र सिंह 2006 में एयर फोर्स मैं भर्ती हुआ था।

वह मध्य प्रदेश अमला एयरवेस में एसआर पोस्ट पर कार्यरत था। 16 अप्रैल ड्यूटी के दौरान पुष्पेंद्र सिंह अचानक बेहोश हो गया और कोमा में चला गया। जिसे उपचार के लिए नागपुर अस्पताल में भर्ती कराया, हालत में कोई सुधार ना होने की वजह से पुणे आर्मी हॉस्पिटल भर्ती कराया। जहां 27 मई बुधवार को पुष्पेंद्र सिंह जिंदगी से जंग हार गया।

पुष्पेंद्र सिंह के सर में खून के थक्के जमने के कारण वह कोमा में चला गया था। शुक्रवार को पुष्पेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर गांव नगला मई पहुंचा। जहां बड़े बेटे लक्ष्य ने मुखाग्नि दी। सूचना लगते ही पूर्व उपप्रधान भूपेन्द्र सिंह फौजदार, खेमकरण सिंह तौली नगला मई पहुंचे एवं शहीद को श्रद्धांजलि दी।
पत्नी से बोला था दोनों बेटों को आर्मी में ज्वाइन कराऊंगा
पुष्पेंद्र सिंह महाशिवरात्रि पर घर छुट्टी आया था। तब पत्नी से बोला कि मैं मेरे दोनों बेटे लक्ष्य और सार्थक को आर्मी जॉइन कराऊंगा। इसके लिए मैं बच्चों की फिजिकल तैयारी कराऊंगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना