बदहाल रास्ता शिक्षा में डाल रहा है खलल:सरकारी स्कूल के रास्ते में जलभराव और गहरे गड्‌ढों से विद्यार्थी और अध्यापकों का आवागमन हो रहा बाधित

नगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानाध्यापक को ज्ञापन देते विद्यार्थी व अभिभावक। - Dainik Bhaskar
प्रधानाध्यापक को ज्ञापन देते विद्यार्थी व अभिभावक।
  • नगर क्षेत्र के गांव ईशनाका का मामला, अभिभावकों ने संस्था प्रधान को ज्ञापन दिया
  • कई शिकायत के बाद भी अधिकारी हैं मौन

इन दिनाें उपखण्ड क्षेत्र के गांव ईशनाका में विद्यालय के रास्ते में जलभराव से अध्यापक व छात्र, छात्राओं का आवागमन बाधित बना हुआ है। ग्राम पंचायत मूडिया के गांव ईशनाका स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के मुख्य रास्ते में जगह-जगह गहरे गड्ढे बने हुए है। जबकि दूसरी तरफ पोखर मौजूद है। जिसमें बरसात का पानी जमा है। ऐसे में छात्र-छात्राओं व अध्यापकों को आने, जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

अभिभावकों का कहना है कि गड्ढों के चलते बच्चों को समूह के रूप में स्कूल भेजा जाता है। कई बार आस पडोस के बच्चों के चले जाने पर उनके बालक अकेले के चक्कर में स्कूल जाने से वंचित रह जाते है। जिससे शिक्षण कार्य प्रभावित होता है। उक्त समस्या को लेकर कई बार सरपंच को अवगत कराया जा चुका है। फिलहाल छात्र-छात्रा व अभिभावकों ने संस्था प्रधान को ज्ञापन देकर सुरक्षा की दृष्टि से गड्ढों को भरवाने की मांग की है।

क्या कहती है संस्था प्रधान
प्रधानाध्यापक मीना गोयल ने बताया कि विद्यालय के रास्ते में गड्ढों की समस्या को लेकर ग्राम पंचायत के सरपंच व विकास अधिकारी पंचायत समिति जगदीश प्रसाद शर्मा को मौखिक रूप से व शिकायती पत्र लिखकर अवगत कराया जा चुका है।

सीधी बात - शबनम, सरपंच ग्राम पंचायत मूडिया

भास्कर: आपकी ग्राम पंचायत मूडिया के गांव ईशनाका में सरकारी विद्यालय के रास्ते में गड्ढे हो गए है।
सरपंच: कुछ दिनों पहले अध्यापकों ने अवगत कराया था। ग्राम विकास अधिकारी से तत्काल मौका दिखाया जाएगा।

भास्कर: विद्यालय के पास पोखर बनी हुई है। जिससे बच्चों की जान को खतरा बना हुआ है। आपने क्या उपाय किए है।
सरपंच: हां, सुरक्षा दीवार के निर्माण को लेकर एस्टीमेट तैयार कराकर स्वीकृति के लिए भिजवाया जाएगा।

भास्कर : गड्ढों की समस्या का समाधान कब तक हो जाएगा। जिससे बच्चे विद्यालय आ-जा सकें।
सरपंच : फिलहाल अस्थाई तौर पर मिट्टी डलवाकर गड्ढों को भरवा दिया जाएगा। साथ ही ग्रेवल सडक की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...