• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Bharatpur
  • 2 Incidents Of Firing In Bharatpur In 12 Hours, Minister Of State For Medical Arrived At Garg Hospital, Saying That The Accused Will Not Be Spared

भरतपुर में 12 घंटे में 2 बार फायरिंग:घायलों को देखने चिकित्सा राज्यमंत्री गर्ग पहुंचे अस्पताल, बोले- आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा

भरतपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग आरबीएम अस्पताल में फायरिंग की घटना में घायल हुए युवक से बात करते हुए। - Dainik Bhaskar
चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग आरबीएम अस्पताल में फायरिंग की घटना में घायल हुए युवक से बात करते हुए।

जिले में फायरिंग की वारदातें आम बात हो गई हैं। जिले में 12 घंटे में रविवार सुबह दूसरी बार फायरिंग की घटना हुई। इन दोनों घटनाओं में दो युवक गंभीर रूप से घायल हुए हैं। पहला मामला सेवर थाना इलाके के बरसो का है, यहां चचेरे भाई ने शनिवार रात नशे में धुत्त होकर अपने भाई को ही गोली मार दी।

दूसरी घटना रविवार सुबह शहर के गोपालगढ़ की है। यहां बाइक सवार तीन बदमाशों ने घर के बाहर घूम रहे एक युवक पर फायरिंग कर दी। दोनों युवकों की हालत गंभीर है। दोनों को आरबीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शनिवार दोपहर चिकित्सा राज्य मंत्री डॉक्टर सुभाष गर्ग घायलों का हाल जानने के लिए अस्‍पताल पहुंचे। उन्होंने पीएमओ डा. जिज्ञासा साहनी को घायलों को बेहतर चिकित्सा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

चचेरे भाई ने मारी गोली
सेवर थाना अधिकारी अरुण चौधरी ने बताया कि गांव बरसो में चचेरे भाई नट्‌टो उर्फ राजकुमार ने राम प्रकाश उर्फ बटुआ उम्र 30 साल को गोली मार दी। ​​​​​​रामप्रकाश रात को अपने घर पर बैठा था। तभी उसका चचेरा भाई नट्‌टो खेत से आया। उसने शराब के नशे में कट्टे से फायर कर दिया। इस घटना में रामप्रकाश घायल हो गया।

घर के बाहर घूम रहे युवक पर फायरिंग
रविवार सुबह गोपालगढ़ मोहल्ला आनंद स्कूल के पास 21 वर्षीय अजय सिंह पुत्र राजवीर अपने घर के बाहर घूम रहा था। बाइक पर तीन युवक आए और एक के बाद एक उस पर फायरिंग करने लगे। एक गोली अजय के पैर में लगी। उसे आरबीएम अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। फायरिंग की सूचना पर मौके पर पहुंचे चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ने कहा कि भरतपुर में जो भी आपराधिक घटनाएं हो रही हैं, वह निन्दनीय हैं। किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।

हत्याकांड में गवाही के लिए दबाव मना रहे थे आरोपी के परिजन
पीड़ित अजय ने बताया कि करीब एक साल पहले हुए नकुल हत्याकांड के मामले में गवाही देने के लिए नकुल के परिजन उसके ऊपर दबाव बना रहे थे, लेकिन अजय ने गवाही देने से साफ मना कर दिया। तब अजय को जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं और रविवार को अजय के ऊपर तीन लोगों ने फायरिंग कर दी।

ट्रैक्टर की चपेट में आने से घायल बालक के इलाज में देरी मंत्री ने जताई नाराजगी
अस्पताल से लौटते समय गर्ग को एक बालक लहूलुहान हालत में मिला। उसकी मां इलाज के लिए परेशान थी। जहां ड्यूटी डॉक्टर काॅल बुक भेजकर विशेषज्ञ डाक्टर को कॉल करने की प्रक्रिया में व्यस्त थे। ये देख मंत्री डा. गर्ग ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि कॉल पर डाक्टर को बुलाने में देरी नहीं होनी चाहिए। देर लग रही है तो मोबाइल फोन या एसएमएस के माध्यम से सूचना दें, जिससे रोगी का कम समय में इलाज शुरू हो सके। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर के. के. गोयल सहित अन्य अधिकारी साथ थे।

(रिपोर्ट: आदर्श मधुकर)

खबरें और भी हैं...