ये रिकॉर्ड अच्छे नहीं है:इस महीने 2018 लोग हुए संक्रमित, नवंबर के पीक से 99 ज्यादा

भरतपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना: 117 रोगी मिले, रिपोर्ट में 2 लेकिन हुई 3 मौत, 1089 एक्टिव केस

दूसरी लहर में कोरोना ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। अप्रैल के 29 दिन में ही 2018 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 117 नए रोगी गुरुवार को ही मिले हैं। जबकि पिछले साल नवंबर में कोरोना का पीक था। तब पूरे महीने में 1919 लोग पॉजिटिव हुए थे। यह भी पहली बार हुआ जब 19 अप्रैल को एक ही दिन में अब तक के सर्वाधिक 152 रोगी मिले थे।

हालांकि एक दिन ऐसा भी रहा जब 25 अप्रैल को सबसे कम 935 एक्टिव केस के साथ भरतपुर राज्य का दूसरा जिला था। उस दिन झुंझुनूं में 912 केस ही एक्टिव थे। लेकिन, ये रिकॉर्ड्स अच्छे नहीं हैं। क्योंकि इस माह पिछले साल के मुकाबले मृत्यु दर भी ज्यादा है। अस्पताल रोगियों से भरे पड़े हैं। बेड-वेंटीलेटर, ऑक्सीजन और इंजेक्शन तक के लिए मारा-मारी है।

इधर, सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान जिले में 2 कोरोना रोगियों की मौत हुई। जबकि भरतपुर के आरबीएम अस्पताल में ही गुरुवार सुबह 2 रोगियों ने दम तोड़ दिया था। वहीं जनाना अस्पताल से जुड़ी एनएचएम की यशोदा 49 वर्षीय महिला की घर पर मृत्यु हो गई। वह कोरोना संक्रमित थी। सीएमएचओ डॉ. कप्तान सिंह के मुताबिक जिले में गुरुवार को 1089 रोगी सक्रिय थे। 9969 लोग ठीक हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...